Z Plus सिक्योरिटी क्या है? | What is Z Plus security in hindi

Z plus security kya hoti hai

बहुत से लोग ऐसे है जिन्हें सिक्योरिटी दी जाती है इन लोगों को दी गयी सिक्योरिटी अलग-अलग होती है जैसे- Z सिक्योरिटी, Z plus सिक्योरिटी एंड Y सिक्योरिटी आदि, लेकिन क्या आप जानते है कि सिक्योरिटी क्या है अगर नही जानते हैं, तो आज इस आर्टिकल हम आपको बतायेंगे कि सिक्योरिटी क्या होती है और इससे रिलेटेड पूरी जानकारी देंगे.

सिक्योरिटी क्या है और कितने तरह से दी जाती है?

किसी व्यक्ति या अपनी जान, माल सम्मान या इनफार्मेशन की सुरक्षा को सिक्योरिटी कहते हैं जिन लोगों की जान को खतरा होता है उन्हें सुरक्षा दी जाती है बहुत से ऐसे लोग जो सिक्योरिटी के घेरे में चलते हैं जैसे- मुकेश अम्बानी, पीएम नरेन्द्र मोदी और भी कई सारे लोग, जिन्हें कभी अकेला नही छोड़ा जाता है इन लोगों को अलग-अलग तरह की सिक्योरिटी दी जाती है.

Z plus security kya hoti hai

सिक्योरिटी दो तरह से दी जाती है पहली इन्सान के पद को देखकर सिक्योरिटी प्रोवाइड करना और दूसरी किसी इन्सान के जान के खतरे को देखकर दी जाती है अभी कुछ समय पहले ही भारतीय एक्टर कंगना रनौत को किसी ने जान से मरने की धमकी दी थी जिससे उन्होंने सरकार से अपनी जान की सुरक्षा के लिए दरख्वास्त की और सरकार ने उन्हें y सिक्योरिटी दी थी जब कोई व्यक्ति अपनी जान की सुरक्षा के लिए सिक्योरिटी की मांग करता है तो सरकार इस बात का पता लगाती है कि जो व्यक्ति सुरक्षा की मांग कर रहा है

उसे सही में सुरक्षा की जरूरत है या नही, अगर सुरक्षा की जरूरत होती है तो उसके बाद ग्रह सचिव, महा निर्देशन और मुख्य सचिव की समिति द्वारा ये निर्णय लिया जाता है कि सुरक्षा मांगने वाले व्यक्ति को किस तरह की सुरक्षा दी जाये और इन सब के बाद उस व्यक्ति को सिक्योरिटी दे दी जाती है, लेकिन ये जरूरी है अगर आप सिक्योरिटी चाहते हैं तो आपको कोई सम्मानित व्यक्ति या मंत्री होना जरूरी है क्युकी सिक्योरिटी सभी लोगों को नही दी जाती है.

Z plus सिक्योरिटी क्या होती है?

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सुप्रीमकोर्ट और हाईकोर्ट के जज, राज्यों के गवर्नर, कैबिनेट मंत्री, मुख्यमंत्री को अपने आप ही सिक्योरिटी दी जाती है क्युकी इन्हें किसी से सुरक्षा मांगने की जरूरत नही होती है क्युकी इनके पद के हिसाब से इन्हें सुरक्षा दी जाती है, पुलिस के अलावा ऐसी और भी कई एजेंसी है जो वीआईपी एंड डबल वीआइपी सिक्योरिटी को प्रोवाइड करती है जैसे- स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप(एनपीजी), नेशनल सुरक्षा गार्ड(एनएसजी), भारत तिब्बत सीमा पुलिस(आईटीबीपी) और केन्द्रीय रिसर्व पुलिस (सीआरपीएफ) आदि, लेकिन जिस तरह से जेड प्लस सुरक्षा देने वाले लोगों की संख्या बड़ी है उसे देखकर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल सीआईएफएस को भी सिक्योरिटी का काम दिया जाने लगा है आज एनएसजी 15 लोगों को Z plus सुरक्षा दे रही है जबकि सीआईएफ भी ये सुरक्षा प्रोवाइड करा रही है.

Z plus सिक्योरिटी की केटेगरी क्या होती है?

ये देश की सबसे बड़ी डबल वीआइपी केटेगरी की सिक्योरिटी है इस सिक्योरिटी में डबल वीआइपी के साथ-साथ 36 सुरक्षा कर्मी होते हैं उसी में 10 एनएसजी सुरक्षाकर्मी डबल वीआइपी के साथ तैनात होते है ये सिक्योरिटी बहुत ही हार्ड लेवल की होती है.

Z सिक्योरिटी और Y सिक्योरिटी क्या होती है?

Z सिक्योरिटी में 22 सुरक्षाकर्मी होते हैं और इन्ही में 5 एनएसजी कमांडो जो हर समय सुरक्षा के लिए तैनात रहते हैं और Y सिक्योरिटी में 11 सुरक्षाकर्मी होते है और 2 एनएसजी कमांडो को तैनात किया जाता है इसके नीचे X केटेगरी की सिक्योरिटी भी आती है X केटेगरी की सिक्योरिटी में इंसान की जान के खतरे को देखकर 5 या 2 पुलिसकर्मियों को उसकी सुरक्षा के लिए लगाया जाता है.

प्रधानमंत्री की सुरक्षा कौन करता है?

प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी(सोशल प्रोटेक्शन ग्रुप) की होती है भूतपूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिजनों को भी ये सुरक्षा 1 साल के लिए दी जाती है कुछ कानूनी प्रोविजन के द्वारा ये सुविधा राजीव गाँधी को मिली थी और उनको सुरक्षा अब हमेशा मिलेगी जब तक वो जीवित रहेंगे.

देश के सबसे बड़े आदमी मुकेश अम्बानी को भी सिक्योरिटी प्रोवाइड की गयी है इन्हें जेड सिक्योरिटी प्रोवाइड की जाती है जैसा सुनने में आया था कि मुकेश अम्बानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी गाड़ी मिलने के बाद इनकी सिक्योरिटी पर बहुत से सवाल उठ रहे हैं क्युकी ये हमारे देश के सबसे बड़े आदमी है इसीलिए इनकी जान हमेशा खतरे में रहती हैं और इसी कारण से गवर्नमेंट द्वारा इन्हें जेड सिक्योरिटी दी गयी है लेकिन इनकी जान के खतरे को देखकर ऐसा लगता है कि आने वाले समय में इन्हें भी जेड प्लस सिक्योरिटी प्रोवाइड कर दी जाएगी.

तिहाड़ जेल में फांसी कैसे दी जाती है? | कैसे दी जाती है फांसी?

तालिबान क्या है और क्या चाहता है? | What is taliban in hindi

ट्रेन के डीजल इंजन को बंद क्यों नही किया जाता है?

आज आपने क्या सीखा?

हम आशा करते है हमारी ये (Z plus security kya hoti hai) जानकारी आपके लिए बहुत यूजफुल होगी और आपको Z plus सिक्योरिटी से जुड़ी सारी जानकारी मिल गयी होगी जैसे- सिक्योरिटी क्या है और कितने तरह से दी जाती है? Z plus सिक्योरिटी क्या होती है? Z plus सिक्योरिटी की केटेगरी क्या होती है? Z सिक्योरिटी और Y सिक्योरिटी क्या होती है? प्रधानमंत्री की सुरक्षा कौन करता है? आदि?,

हमारी ये (Z plus security kya hoti hai) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताये और ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर भी कीजिये.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.