Web Hosting क्या है? | वेब होस्टिंग काम कैसे करता है?

Web hosting kya hai – आप में से बहुत से लोगों ने वेब होस्टिंग के बारे में जानते हैं जैसे- जो लोग वेबसाइट बनाते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें वेब होस्टिंग के बारे में नही पता है इसीलिए आज हम आपको वेब होस्टिंग के बारे में पूरी जानकारी देंगे.

वेब होस्टिंग क्या है? (What is Web Hosting in hindi)

जब आप वेबसाइट या ब्लॉग बनाते हैं तो उसके सारे कंटेंट जैसे- इमेज, विडियो, पेज आदि को सर्वर में स्टोर करना पड़ता है जिससे दूसरे लोग इन्टरनेट के द्वारा उसे एक्सेस कर सकें. वेब होस्टिंग एक तरह की सर्विस होती है जो हमे अपनी वेबसाइट को इन्टरनेट पर अपलोड करने की सुविधा प्रदान करती है. वेब होस्टिंग के लिए हमे एक पावरफुल सर्वर की जरूरत होती है जो हमेशा इन्टरनेट से कनेक्ट होना चाहिए, जिससे हमारी वेबसाइट बिना प्रॉब्लम के यूजर के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहे.

Web hosting kya hai
Image Credit: Shutterstock

उदाहरण- जैसे अगर आप कोई बिज़नेस करना चाहते है तो आपको सामान रखने के लिए एक स्टोर रूम खरीदना पड़ता है ठीक उसी तरह से वेबसाइट का बिज़नेस करने के लिए वेब होस्टिंग की जरूरत होती है.

वेब होस्टिंग की सर्विस हमे बहुत सारी कम्पनीज प्रोवाइड करती है जैसे-GoDaddy, HostGator, bluehost आदि. इसके अलावा और भी वेब होस्टिंग कंपनियां है जो वेब होस्टिंग प्रोवाइड करती हैं.

वेब होस्टिंग काम कैसे करता है?

जब हम अपना वेबसाइट बनाते हैं तो हम अपनी नॉलेज और इनफार्मेशन को लोगों के साथ शेयर करना चाहते हैं तो उसके लिए हमे अपनी फाइल्स को वेब होस्टिंग पर अपलोड करना पड़ता है. फाइल अपलोड हो जाने के बाद जब कोई इन्टरनेट यूजर अपने वेब ब्राउज़र (जैसे- क्रोम, फायरफॉक्स) पर आपका डोमेन नेम डालता है फिर इन्टरनेट आपके डोमेन नेम से उस सर्वर को जोड़ देता है जहाँ पर आपकी वेबसाइट  की फाइल्स स्टोर करके रखी गयी होती हैं सर्वर को जोड़ने के बाद आपकी वेबसाइट का सारा डाटा उस यूजर के कंप्यूटर पर आ जाता है और फिर वहां से यूजर अपनी जरूरत के हिसाब से पेज को देखता है.

डोमेन नेम को होस्टिंग में जोड़ने के लिए DNS (Domain Name System) का यूज किया जाता है इससे डोमेन को ये पता चलता है कि आपकी वेबसाइट कौन से वेब सर्वर पर स्टोर की गयी है क्युकी हर सर्वर का डीएनएस अलग-अलग होता है.

वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें?

दुनिया में बहुत सी कंपनीज है जो बेहतर से बेहतर होस्टिंग प्रोवाइड करती है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आपके सारे विजिटर इंडिया के हो, तो आपको इंडिया से होस्टिंग खरीदना सही रहेगा. आपकी होस्टिंग का सर्वर आपकी कंट्री से जितना दूर रहेगा आपको वेबसाईट एक्सेस करने में उतना ही टाइम लगेगा. एक बार होस्टिंग खरीद लेने पर आप आसानी से उसे अपने डोमेन नेम के साथ जोड़कर एक्सेस कर सकते हैं.

वेब होस्टिंग खरीदने से पहले आपको कुछ चीजों के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है जैसे- डिस्क स्पेस, बैंडविड्थ, अप-टाइम, और कस्टमर सर्विस आदि.

अगर आपको बेस्ट होस्टिंग चाहिए तो आप इंडिया के बेस्ट वेब होस्टिंग कंपनी  Hostinger.in से खरीद सकते है जो की आप आपको बहुत कुछ फ्री में देती है अगर अभी आपका स्टार्टअप है तो आपके लिए ये बेस्ट होस्टिंग रहेगी इसमें आपको बहुत से प्लान आते है जो की आप लिक पर क्लिक करके देख सकते है. 

वेब होस्टिंग कितने तरह की होती है?

वेब होस्टिंग कई तरह की होती है जब हम वेबसाइट बनाते है तो अपनी जरूरत के अनुसार वेब होस्टिंग खरीदते हैं तो वो वेब होस्टिंग चार प्रकार की होती हैं-

शेयर्ड वेब होस्टिंग (Shared Web Hosting)

इस वेब होस्टिंग में कई वेबसाइट्स एक ही सर्वर का यूज करती है. अगर आपका बिज़नेस छोटा है या फिर अभी आप अपना बिज़नेस शुरू कर रहे हैं तो इस तरह की वेब होस्टिंग बेहतर होती है. इस वेब होस्टिंग में वेबसाइट को होस्ट करना बहुत आसान होता है और इसमें आप कई सारे टूल्स और प्लागिंस को आसानी से इंस्टाल कर सकते हैं. 

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग (Dedicated Web Hosting)

ऐसी वेबसाइट्स जिस पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक होता है तो उसे डेडिकेटेड वेब होस्टिंग लेनी चाहिए.

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर वेब होस्टिंग (VPS- Virtual Private Server Web Hosting)

शेयर्ड वेब होस्टिंग और डेडिकेटेड वेब होस्टिंग का कॉम्बिनेशन वर्चुअल प्राइवेट सर्वर वेब होस्टिंग के अंतर्गत आता है.

क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting)

ये डेडिकेटेड सर्वर और वीपीएन सर्वर के साथ मेन समस्या होती है कि आपके पास संसाधन कम होते हैं यहाँ पर स्टोरेज और कैपेसिटी की भी लिमिट होती है. ज्यादातर वेबसाइट इस लिमिटेशन तक नही पहुँच पाती है लेकिन कभी कभी ऐसा हो जाता है कि कुछ वेबसाईट में कंटेंट वायरल हो सकते है और उससे अचानक ट्रैफिक बढ़ जाता है जिससे हमारे लिए उस वेबसाइट को हैंडल करना काफी मुश्किल हो जाता है तो इन समस्याओं को हल आप क्लाउड वेब होस्टिंग में देख सकते हैं यहाँ पर कोई एक सर्वर नही बल्कि कई सारे सर्वर एक साथ मिलकर वेबसाइट को होस्ट करते हैं ऐसी होस्टिंग का यूज बड़ी आर्गेनाइजेशन में किया जाता है.

इसे भी पढ़ें?

इन्टरनेट सेवा प्रदाता क्या है? | What is Internet Service Provider in hindi

इन्टरनेट क्या है? | इन्टरनेट काम कैसे करता है?

Computer generation क्या है? | What is Computer generation

कंप्यूटर क्या है? | कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?

आज आपने क्या सीखा?

हम आशा करते हैं कि हमारा ये (Web hosting kya hai) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए ये बहुत ही हेल्पफुल भी होगा, इसमें हमने आपको वेब होस्टिंग से रिलेटेड पूरी जानकारी दी है जैसे- वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग काम कैसे करता है? वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें? वेब होस्टिंग कितने तरह की होती है? आदि.

हमारी ये (Web hosting kya hai) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर भी जरुर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.