उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पैरामेडिकल प्रशिक्षण में सुधार के लिए ‘मिशन निरामया’ की शुरुआत की

UP CM launches ‘Mission Niramaya’ for improvement in paramedical training

मुख्यमंत्री ने नर्सिंग और पैरामेडिकल कॉलेजों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने पर जोर दिया. बयान में कहा गया कि प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने नर्सिंग और पैरामेडिकल संस्थानों में बेहतर प्रशिक्षण की जरूरत पर भी जोर दिया.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ को स्वास्थ्य और चिकित्सा प्रणाली की रीढ़ बताते हुए शुक्रवार को कहा कि भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए नर्सिंग और पैरामेडिकल प्रशिक्षण में भारी बदलाव की आवश्यकता है.

इसे भी पढ़ें: बैंगलोर विश्वविद्यालय पार्ट टाइम फुल टाइम गेस्ट फैसल्टी के लिए आवेदन करे

इसे देखते हुए शुक्रवार को जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार नर्सों और पैरामेडिक्स के प्रशिक्षण में व्यापक सुधार के लिए ‘मिशन निरामया’ शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने नर्सिंग और पैरामेडिकल कॉलेजों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने पर जोर दिया. बयान में कहा गया कि प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने नर्सिंग और पैरामेडिकल संस्थानों में बेहतर प्रशिक्षण की जरूरत पर भी जोर दिया इसके लिए सुनियोजित प्रयास भी किए जाएं, नीति का निर्णय निजी क्षेत्र के प्रतिष्ठित अस्पतालों के परामर्श से किया जाए, इसमें आदित्यनाथ के हवाले से कहा गया है.

इसे भी पढ़ें: UPSC CAPF (AC) लिखित परीक्षा परिणाम 2022 घोषित, ऐसे करें चेक

उन्होंने कहा कि नर्सिंग का प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं के लिए व्यावहारिक ज्ञान बहुत जरूरी है मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्सिंग और पैरामेडिकल सेक्टर में बेहतर करियर की संभावनाओं के बारे में अधिक से अधिक युवाओं को जागरूक करने की जरूरत है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.