टी बैग बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tea Bag Making Business Plan In Hindi

tea bag making business plan hindi

दोस्तों आज के टाइम में बहुत से लोग अपने दिन की शुरुआत चाय से करते हैं इसलिए हमारे देश में चाय का व्यापार करके काफी ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है लेकिन इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको क्या करना होगा किस चीज़ की जरूरत होगी आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको इससे रिलेटेड पूरी जानकारी देते हैं.

टी बैग का व्यापार कैसे शुरू करे? (How to Start Tea Bag Making Business Plan In Hindi)

भारत के कई राज्यों में चाय के बाग हैं जहाँ से चाय पत्ती की सप्लाई देशभर में की जाती है आज के टाइम में बाजार में तरह-तरह की चाय पत्तियों की वैराइटी मिल जाएगी. सफेद चाय भारत के साथ-साथ चाइना, और थाईलैंड देशों में भी उगाई जाती है और ये चाय पत्ती चाइनीज केमेलिया सिनेसिस पौधे के पत्तों से और कलियों से बनाई जाती है.

tea bag making business plan hindi

आज के समय में ग्रीन टी का सेवन काफी अधिक किया जाने लगा है क्योंकि यह हेल्थ के लिए काफी अच्छी होती है और ग्रीन टी की पत्ती केमेलिया सिनेसिस पौधे से प्राप्त की जाती है. ब्लैक टी का सेवन भारत में ज्यादा किया जाता है और ये चाय पत्ती आपको बाजार में बिकने वाली अन्य प्रकार की चाय पत्तियों से स्वाद में काफी स्ट्रांग होती है. हर्बल टी जड़ी बूटी फूल और फल का मिश्रण होती है और यह चाय पत्ती तीन प्रकार की होती है राइबोज़ चाय, मेट चाय और हर्बल इनफ्यूजन.

टी बैग बनाने का बिज़नेस शुरू करने से पहले आपको मार्केट के बारे मे अच्छे से रिसर्च करना होगा जिससे आपको पता चलेगा कि आपके द्वारा बनाई जाने वाली टी बैग का इस्तेमाल ज्यादा कहाँ किया जाता है और किन जगहों पर आप इन्हें बेच सकते हैं. टी बैग मेकिंग बिज़नेस का सेटअप तैयार करने से पहले मार्केट रिसर्च के आधार पर अपना एक बिज़नेस प्लान तैयार कर लें, टी बैग बनाने के लिए आपको फिल्टर पेपर और चाय पत्ती टी की जरूरत होगी, फिल्टर पेपर के अंदर चाय पत्ती को भरा जाता है और इस पेपर के सहित चाय पत्ती को गर्म पानी में डालकर चाय बनाई जाती है टी बैग को बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले फिल्टर पेपर का कागज बहुत छिद्रपूर्ण और पतला होता है.

यह फ़िल्टर पेपर जल्दी गीला भी नहीं होता है इसीलिये यह पेपर गर्म पानी में नहीं घुलता है और इसका यूज टी बैग बनाने के लिए किया जाता है, बाजार में चाय पत्ती कई तरह की आती है जैसे- ग्रीन टी, ब्लैक टी, येल्लो टी इत्यादि. आप जिस चाय पत्ती के टी बैग का बिज़नस शुरू करना चाहते हैं आपको उस चाय पत्ती को खरीदना होगा, चाय पत्ती के दाम उसकी क्वालिटी पर डिपेंड करते हैं अगर आप अच्छी क्वालिटी की चाय पत्ती लेते हैं तो वो आपको लगभग 300/- प्रति किलोग्राम के हिसाब से मिलेंगी, लेकिन अगर आप कुछ कम अच्छी क्वालिटी वाली चाय पत्ती लेते हैं तो आपको 100/- से लेकर 150/- रूपये के बीच में मिल जाएगी.

अगर आप चाय पत्ती खरीदना नही चाहते है तो आप इसे खुद भी बना सकते है चाय के पौधे के पत्तों को तोड़ने के बाद उन पत्तों को विकरिंग ग्राइंग सुखाना और पीसना पड़ता है और उसके बाद आपकी चायपत्ती बनकर तैयार हो जाती है विकरिंग प्रक्रिया में चाय के पौधों के पत्ते को 18 से लेकर 20 घंटे तक खुली जगह पर रखकर सुखाया जाता है उसके बाद चाय के पौधों की पत्तियों का रंग कॉपर रंग में बदल जाता है पत्तों को हवा में सुखाने के बाद उन्हें ग्राइंड किया जाता है कई कंपनियां हाथों के जरिए पत्तों को क्रश करती है और कई कंपनियां यह कार्य रोटेटिंग टेबल्स या फिर रोलिंग मशीन की मदद से किया जाता है चाय के पत्तों को क्रश करने के बाद उनको सुखाया जाता है और सभी वैराइटी के चाय के पत्तों को सुखाने की प्रक्रिया अलग होती है,

जैसे- ब्लैक टी के पत्तों को उच्च तापमान की मदद से सुखाया जाता है जिससे ब्लैक टी की पत्तियों का फ्लेवर उसमें मौजूद रहें और उच्च तापमान में इन पत्तियों को सुखाए जाने के कारण ही इन पत्तियों का रंग काला हो जाता है और उलौंग टी के पौधों के पत्तों को सुखाने की प्रक्रिया ब्लैक टी के पत्तों को सुखाने की तुलना में कम समय लगता है उलौंग टी के पौधे के पत्तों को पहले रोल किया जाता है फिर उनको सुखाया जाता है फिर से दो बार रोल किया जाता है ग्रीन टी के पौधों के पत्तों को तोड़ने के 24 घंटे के भीतर ही इन्हें उबाल लिया जाता है और फिर सुखाया जाता है चाय के पौधों के पत्तों को सुखाने के बाद उन्हें मिल में पिसाया जाता है हालांकि चाय के पौधों के पत्तों को किस तरह से पीसा जाता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस मकसद के लिए उसको बना रहे हैं.

जैसे- टी बैग के अंदर भरने वाली चाय पत्ती का आकार छोटा रखा जाता है क्योंकि इस तरह की चाय को बनाने में कम समय लगता है और छोटे आकार के होने की वजह से यह पानी या दूध में जल्दी खुल जाती हैं हर कंपनी अपने द्वारा बनाई गई चायपत्ती को अलग-अलग स्वाद देने के लिए अपनी चाय पत्ती में कई तरह की चीजें (इलायची, अदरक, अशौगंधा, लौंग) मिलाती हैं, इसीलिए आप अपनी चाय पत्ती को जो स्वाद देना चाहते हैं आपको उस स्वाद के हिसाब से उसमें कुछ चीजें मिलाना होता है और उन चीजों को अच्छे से चाय की पत्ती के साथ प्लेन करना होगा इन चीजों को मिलाने के बाद आपकी चाय की पत्ती बनकर तैयार हो जाएगी.

चाय पत्ती को फिल्टर पेपर टी बैग मेकिंग मशीन की मदद से पैक किया जाता है और इस मशीन को आप ऑनलाइन खरीद सकते है जब आपकी चाय पत्ती बन जाएगी तो आपको उस चाय पत्ती को टी बैग मेकिंग मशीन की मदद से फिल्टर पेपर में भरना होगा, एक चाय बैग में लगभग एक से चार आउन्स चाय पत्ती भरी जाती है फिल्टर पेपर में चायपत्ती को भरने के बाद उस पेपर को टी बैग मेकिंग मशीन की मदद से सील किया जाता है और उस पेपर के साथ एक धागा जोड़ दिया जाता है आप चाहें तो अपने टी बैग पेपर पर अपनी कंपनी का लोगो भी लगवा सकते हैं.

बाजार में पहले से ही कई ऐसी कंपनियां हैं जो कि टी बैग बेचने का कार्य करती हैं और आप इन कंपनियों का मुकाबला मार्केटिंग और प्रमोशन के जरिए कर सकते हैं आप अपने बजट के हिसाब से मार्केटिंग और प्रमोशन से जुड़े किसी भी विकल्प का सहारा ले सकते है और लोगों को अपने टी बैग ब्रैंड की जानकारी दे सकते हैं टी बैग का बिज़नस शुरू करने से पहले आपको अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा अगर आपको कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवाने के बारे में जानकारी नही है तो आप किसी वकील से भी मदद ले सकते हैं टी बैग के बिज़नस शुरू करने से पहले आपको उत्पादक लाइसेंस और व्यापार लाइसेंस की जरूरत होगी ये लाइसेंस आपको अपने राज्य की लोकल अथॉरिटी से इन्हें बनवाना होगा और इसी के साथ ही आपको टैक्स भरने से जुड़े हुए सभी प्रकार के कार्य भी करने होंगे.

टी बैग के बिज़नेस को शुरू करने से पहले स्टार्टिंग में अगर आप चाहे तो सिर्फ एक या दो प्रकार की वैराइटी वाली टी के बैग बनाकर उन्हें बेच सकते हैं और जब आपका बिज़नस अच्छे से चलने लगे तो अन्य तरह की वैराइटी वाली चाय पत्ती को भी फीडबैक के जरिए बेच सकते है आपको पता होगा कि हर बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको MSME (Micro, Small & Medium Enterprises) के अंतर्गत अपने बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन कराना होता है.

अन्य पढ़े:

अपनी कंपनी रजिस्टर कैसे कराएँ?

फ्यूचर में सबसे ज्यादा कौन से बिज़नेस ग्रो करेंगे

डाटा एंट्री का बिजनेस कैसे शुरू करें?

पैकेज्ड नारियल पानी का व्यापार कैसे शुरू करें

आर्गेनिक फ़ूड स्टोर कैसे शुरू करे?

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.