पहलवान सुशील कुमार – ओलंपिक पदक विजेता बने हत्यारा

वैसे तो हमारे देश में बहुत से स्पोर्ट्स खेले जाते हैं लेकिन कुश्ती का नाम सुनते ही आपके दिमाग सुशील कुमार का नाम जरुर आता होगा. ये आज के समय में भारत में पहलवानों में से एक हैं जिन्होंने भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक पहचान दिलाई है सुशील कुमार ने लगातार दो बार ओलम्पिक मेडल जीते हैं.

सुशील कुमार का जीवन परिचय

सुशील कुमार भारत के रेस्लर्स में से एक है जिन्होंने भारत में एक नई पहचान के साथ-साथ आने वाली नये जेनेरेशन को इस खेल की तरफ आकर्षित किया है इन्होंने कई मेडल जीते और विश्व में भारत का नाम ऊँचा किया है इनका कहना है कि हर किसी का वक्त हमेशा एक जैसा नही रहता है ठीक इसी तरह कुछ इनके साथ ही हुआ था

इन्होंने अपनी मेहनत के बल पर फर्श से अर्श तक का सफर तय किया और अब वो फिर से अर्श से फर्श की तरफ बढ़ रहे हैं लाखों युवाओं के आइडियल सुशील कुमार रहे हैं इनके ऊपर हत्या का संगीन आरोप भी है. आप में से बहुत लोग इनकी बीती जिन्दगी के बारे में जानना चाहते हैं तो आज हम आपको इनकी पूरी बायोग्राफी बतायेंगे.

सुशील कुमार का परिवार 

सुशील कुमार का जन्म 26 मई 1983 में दिल्ली के बापरोला गांव में हुआ था इनकी मां का नाम कमला देवी है सुशील कुमार का पूरा नाम सुशील कुमार सोलंकी था ये जिस गांव में बड़े हुए वहाँ पर भी कुश्ती की जाती थी तो ये पहलवानों के बीच में बड़े हुए इसके पिता भी पलवान एक थे

Name (नाम) Sushil Kumar Solanki
Father’s name (पिता का नाम) Diwan Singh
Mother’s name (माता का नाम) Kamla Devi
Wife (पत्नी का नाम)Wife (पत्नी Savi Kumar
Height 5’ 5″
Weight 66kg
Eye Colour Black
Hair Colour Black
Date OF Birth (जन्म की तारिक) 26th May, 1983
Age (आयु) 36
Birth Place (जन्म स्थान) Baprola
Zodiac Sign (राशि) Gemini
Nationality Indian (भारतीय)
Hometown Baprola, Delhi
College Noida College of Physical Education, Noida

जिसका इन पर गहरा प्रभाव पड़ा अपने कजिन को रेस्लिंग में आगे बढ़ता देख कर इन्होंने भी रेस्लिंग और पहलवानी करना शुरु कर दिया गांव में कुश्ती शुरू करने के कुछ समय बाद वहाँ के लोगों के अहसास हो गया था कि ये स्पोर्ट्स में बहुत अच्छे हैं और उनके टैलेंट को देखकर उन्हें कोम्पेटीशन लड़वाना शुरू कर दिया

जब ये 14 साल के थे तभी से इन्होंने छत्रसाल स्टेडियम में रेस्लिंग सीखना शुरु कर दिया और इसके आगे का जीवन वे इसी स्टेडियम में बिताने वाले थे इन्हें शुरुआत में यशवीर और रामफल के द्वारा कुश्ती ये दांवपेंच सिखाये गये और बहुत कम समय में ही ये इसमें बहुत अच्छे हो गये थे

ये प्रैक्टिस भी खूब करते थे यहाँ पर इनकी ट्रेनिंग भी अच्छे से हुई थी सुशील ने अपने पूरे जीवन वेजेटेरियन डाइट फॉलो किया, इनके पिता ड्राइवर थे जब से ये छत्रसाल स्टेडियम में आये थे तब से उनके पिता डेली इनके लिए अपने घर से कई लीटर दूध और खाना ले जाते थे इसीलिए सुशील अपने करियर में अपने पिता का भी काफी कंट्रीब्युशन समझते हैं.

इसी स्टेडियम में इनकी मुलाकात सत्पाल सिंह से हुई जिन्होंने सुशील के टैलेंट को पहचान कर उन्हें कोम्पेटीशन के लिए तैयार किया फ्री स्टाइल रेस्लिंग में आने के बाद 1998 में वर्ल्ड केडिट गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने से इन्हें पहली कामयाबी मिली इसके बाद ये आगे बढ़ते गये.

2000 में एशियन जूनियर रेस्लिंग चैम्पियनशिप में भी गोल्ड मेडल जीता जूनियर लेवल पर अच्छा करने के बाद 2003 में पहली बार बड़े लेवल पर लोगों के सामने आये जब उन्होंने एशियन रेस्लिंग चैम्पियनशिप में ब्रोंज़ मेडल जीता इसके अलावा इन्होंने कॉमन वेल्थ रेस्लिंग चैम्पियनशिप में भी गोल्ड मेडल जीता था वो लगातार अच्छा प्रदर्शन करके उन ऊँचाइयों तक जा रहे थे

जहाँ पर आज तक भारत का कोई भी रेस्लर नही पहुंचा था 2004 के ओलम्पिक गेम में लोगों को सुशील कुमार से बहुत सी उम्मीदें थी लेकिन इस ओलम्पिक गेम में ये अपना अच्छा प्रदर्शन नही दे सके ये इनके लिए खुद को साबित करने का अच्छा मौका था जिसमे ये सफल न हो सकें और इस वजह से ये 14वें स्थान पर रहे.

लेकिन इसके बाद भी ये लगातार प्रैक्टिस करते रहे और वापस छत्रसाल स्टेडियम लौटने के बाद इन्होंने अपने कोच सत्पाल सिंह के साथ और भी कठिन ट्रेनिंग करनी शुरू कर दी.

2005 और 2007 में कॉमन वेल्थ रेस्लिंग चैम्पियनशिप में इन्होंने फिर से अपने टैलेंट को दिखाया और गोल्ड मेडल जीता इनके लगातार अच्छे खेल को देख कर 2008 के बीजिंग ओलम्पिक के गेम्स में भी सभी रेस्लिंग्स में फैन्स को उनसे काफी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी इन्होंने 2008 के गेम में भी ब्रोंज मेडल जीतकर अपने फैन्स को निराश नही किया यहाँ पर इन्होंने दिखाया कि ये कितने कमाल के रेस्लर है.

यहाँ से ये सबके लिए प्रेरणा बनते गये फिर 2012 में लंडन ओलम्पिक में सुशील कुमार (Sushil kumar biography Hindi) भारत का झंडा लेकर फ्लैग बियरर बने इन्होंने अपने पिछले प्रदर्शन को और बेहतर किया और फाइनल तक गये और सिल्वर मेडल जीतने में भी कामयाब रहे ये एक ऐसे इंडियन बने जिन्होंने दो ओलम्पिक मेडल्स जीते और इसके बाद 2014 और 2018 के कॉमन वेल्थ में भी गोल्ड मेडल जीता इसके लोगों के बीच उनकी लोकप्रियता बढ़ती चली गयी

ये भारत में रेस्लिंग के पोस्टर ब्वाय बने सुशील कुमार ने लाखों लोगों को इस खेल और स्पोर्ट्स के प्रति आकर्षित किया है.

2021 में इतने दिनों से बनाई गयी मेहनत और नाम सब एक झटके में ही खतरे में पड़ गया जब उनके ऊपर हत्या का आरोप लगाया गया अभी हाल ही में उनकी गिरफ्तारी हुई है पुलिस अभी इस मामले की जाँच कर रही है लेकिन अगर देखा जाय तो ये हर खेल प्रेमी के लिए बहुत ही दुःख की बात है कि एक समय उनके आइडियल रह चुके सुशील कुमार आज सलाखों के पीछे हैं.

सागर राणा कौन है?

सुशील कुमार के हाथों मर्डर हुआ व्यक्ति ही सागर राणा है. सागर राणा की आयु 23 साल की थी जो की एक जूनियर रेसलर भी था. वो असल में दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल का बेटा था. 

सागर मर्डर केस क्या है?

ये इनके लाइफ की पहली कोंट्रीबर्शी नही है इसके अलावा भी ये कई कोंट्रीबर्सी का शिकार हो चुके है 2016 में हुए रिओ ओलम्पिक में रेस्लर नर्सिंग यादव को इंडिया की तरफ से लड़ने के लिए चुना गया था लेकिन सुशील कुमार ये चाहते थे कि अपने पिछले रिकॉर्ड के अनुसार उन्हें इस ओलम्पिक गेम्स के लिए सेलेक्ट किया जाय तो इसीलिए इनके कुछ दोस्तों ने नर्सिंग यादव के खाने के कुछ मिला दिया जिस वजह से नर्सिंग यादव अपने डोपटेस्ट में फेल हो गये और इसी के बाद नर्सिंग यादव ने सुशील कुमार पर आरोप लगाया.

ये हादसा इंडियन स्पोर्ट्स फेडरेशन्स  के लिए काफी शर्मनायक शाबित हुआ इसके अलावा कॉमन वेल्थ गेम के सिलेक्शन के समय सुशील और उनके दोस्तों ने मिलकर उनके कॉम्पेटेटर राना के साथ हाथापाई किया जिसके लिए सुशील (Sushil kumar biography Hindi) के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी थी इसके अलावा सोशल मीडिया पर सुशील कुमार के गैंगस्टर के साथ फोटोज भी शेयर किये जा चुके हैं जो इनको कुछ खुक्यात गैंगस्टर से लिंक करती है.

सुशील कुमार की पत्नी 

सुशील कुमार जी की पत्नी का नाम सवी कुमार है. वो असल में सुशील के गुरु सतपाल सिंह की ही बेटी है. उनके 2 बेटे हैं. वो भी एक समय में बढ़िया टेनिस प्लयेर थी और उन्होंने नैशनल भी खेला हुआ है. इस जोड़े ने 2011 में दोस्तों और परिवार के साथ एक निजी समारोह में शादी के बंधन में बंध गए. 

सुशील कुमार का Diet

उनके आहार में ताजा जूस, अंडे, दूध, ब्रेड, केला, पनीर, रोटी, हरी सब्जियां, बादाम, चपाती और अन्य उच्च प्रोटीन शाकाहारी भोजन शामिल हैं.

वह अपने प्रशिक्षण के लिए सख्त कार्यक्रम के साथ संतुलित आहार लेते हैं. उनका दैनिक दिनचर्या सुबह 5 बजे शुरू होता है, जिसमें दौड़ना, नाश्ता करना, नाश्ते के बाद, दोपहर का भोजन और रात का खाना शामिल है. वह अपने पूरे दिन के बीच में उचित प्रशिक्षण के बाद रात 10 बजे तक बिस्तर पर सोते हैं.

सुशील कुमार के Records

यहाँ पर उनके कुछ रेकर्ड के बारे में जानकारी दी गयी है :

  • Gold medal मिला था London Commonwealth Championship में सन 2003 में. 
  • Bronze medal मिला New Delhi Asian Championships में सन 2003 में.
  • Gold medal मिला Jalandhar Commonwealth Championship,2009 में. 
  • Gold medal मिला New Delhi Asian Championship, 2010 में. 
  • सन २०२१० में Gold medal मिला Moscow World Championships में.
  • Gold medal मिला Delhi Commonwealth Games, 2010 में.
  • Silver Medal मिला London Olympics,2012 में.
  • Gold medal मिला Gold Coast Commonwealth Games, 2018 में.
  • Gold medal मिला Cape Town Commonwealth Championship 2005 में.
  • Gold medal मिला London Commonwealth Championship 2007 में. 
  • Silver medal मिला Kyrgyzstan Asian Championships in 2007.
  • Bronze Medal मिला Beijing Olympics,2008 में.
  • Bronze medal मिला Jeju Island Asian Championships, 2008 में. 

सुशील कुमार के Awards और Achievements

  • Arjuna Award से सम्मानित किया गया सन 2005 में.
  • Padma Shri Award मिला सन 2011 को.
  • Rajiv Gandhi Khel Ratna Ward मिला सन 2008 को.

सुशील कुमार का Net Worth

सुशील कुमार की कुल संपत्ति $100k और $1M (लगभग) के बीच अनुमानित है.

सुशील कुमार के Social Media Profiles

Facebook Click here
Instagram Click here
Twitter Click here

इसे भी पढ़े?

Spanish Language कैसे सीखें?

German Language कैसे सीखें?

New Language कैसे सीखें

किसी भी Topics को जल्दी कैसे समझे ?

चांद पर इंटरनेट की स्पीड कितनी है ?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (Sushil kumar biography Hindi) आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आपको हमारी ये जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और अपने फ्रेंड्स के साथ भी इस आर्टिकल को जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.