सॉफ्टवेयर कंपनी कैसे शुरू करें | कंपनी कैसे शुरू करें

Software Company kaise start kare

Software Company kaise start kare

Software Company kaise start kare

सॉफ्टवेयर कंपनी कैसे शुरू करें? (How to start a software company)

India में software companies अच्छी growth कर रही हैं . और अब हर major cities में software company establish होने लगी हैं .

ऐसे में अगर आप भी इस area में अपना business बढ़ाना चाहते हैं तो आपको benefit जरुर होगा इसीलिए आज हम आपको इस article में software company start करने का process बतायेंगे  साथ ही आपको Software companies के different types के बारे में भी बतायेंगे.

Types of Software companies:-

India में आपको दो प्रकार की software companies मिलेंगी.

Service or Consulting Based Software Company.

Product or Development Based Software Company.

Wipro,

Infosys,

IBM,

Tech Mahindra,

Software consulting

या service companies हैं इस type की companies clients को business consulting, information technology, software engineering और outsourcing services की services provide कराती हैं.

जबकि product या development based software company के पास ऐसे product है जो remenu में एक major portion provide कराते हैं, amazon, microsoft, google ऐसी ही companies हैं.

आइये अब हम आपको बताते हैं India में software company open करने का step by step procedure क्या है ?

अपने Business के लिए fund collect करें?

अपने business की funding के लिए या तो आपके पास sufficient funds होगा या फिर आप बैंक लोन से आप ऐसा करने वाले होंगे. अच्छी बात ये है कि आज के time में आप crowdfunding, angel investment, venture capital funding की help आप ले सकते हैं .

पहले Business plan बनाना जरूरी होता है?

Business Plan बनाइये किसी भी business को शुरू करने से पहले business plan बनाना जरूरी होता है ,कई बार इस step को skip कर दिया जाता है जिसके results satisfactory नही आते हैं.

इसीलिए आपको business शुरू करने की पहले भले ही कितनी भी जल्दी हो एक proper business plan जरुर बनाइए जो कि deep research पर based हो और आपने इस field के competition को भी अच्छे से observe कर लिया हो इस business plan में software company का दायित्व choose करें

जो आपके knowledge और business के according हो जिसमे आप ज्यादा अच्छी service दे सकते हो इसमें आपको product और service को भी choose करना होगा और इसमें से picordience और market को भी target करना होगा.

Business Organization को structure decide करें?

Business organization का structure decide करें अपनी business के लिए software company का right type choose करने के बाद आपको decide करना होगा कि आप business partnership में शुरु करना चाहते हैं या नही आप अपनी service पूरे देश में देना चाहते हैं या फिर केवल local community में ही ले जाना चाहते है

Business के लिए सही area या region select करें?

अपने Business के लिए सही area या region select करें. आप किस तरह के software type पर काम करने वाले हैं इस पर depend करेगा कि आपका product पूरे देश में sell करेंगे

या local area में लेकिन आपको अपने business के लिए India के ऐसे areas पर तो focus करना ही होगा जहाँ पर आपको सबसे ज्यादा profit मिल सकता हो .

Software company को resister करवाइये?

अपनी Software company को resister करवाइये  अगले step में आपको अपनी company को registrars of companies (ROC) में resister करवाना होगा. इसके लिए आपको अपनी company को 4 ऐसे नाम भी देने होंगे जो अभी तक किसी company के न हों .

Software company की basic personal information provide करनी होंगी

इसके अलावा आपको कुछ form भी भरने होंगे जो आपको software company की basic personal information provide करनी होंगी India में अपनी software company का business शुरू करने से पहले आपको legal entity की जरूरत पड़ेगी इसीलिए आप अपनी company के लिए suitable legal entity इनमे से choose कर लें.

Sole Proprietorship form, इसे company तो नही माना जाता है, लेकिन किसी नये idea पर काम शुरू करने के लिए इसे एक अच्छी legal entity माना जाता है दूसरा है partnership form, इसमें business owner के साथ वो founders भी होते हैं जो मिलकर उस business ideas पर काम करते हैं .

तीसरा है LLP यानि Limited Liability Partnership या Private Limited Company इसे India में business की real company कहा जाता है और 90 % से ज्यादा business owners अपनी company को इसी नाम से register करवाते हैं.

Software company start करने के लिए आपको इन common documents की भी जरूरत पड़ेगी, जैसे – PAN Card copy, Aadhaar Card, Voter id या Driving License address proof के रूप में.

Business address proof

Business address proof के लिए utility bills copy या rent agreement copy भी चलेगी. इनके अलावा एक software company शुरू करने के लिए आपको इन license और legal registration भी जरूरत भी पड़ेगी,

जैसे की consulting business के लिए Service tax registration, STPI license, Trademark Registration, Copyright Registration, Patent registration और Software license agreements.

STPI के बारे में जरुर से जान लेना चाहिये

यहाँ आपको STPI के बारे में जरुर से जान लेना चाहिये आपको अपनी company या organization को STPI यानि Software Technology Park in India में register भी करवाना होगा. ये STPI licenses specially India की new software companies के लिए होते हैं ,और उन्हें बहुत सी facility provide कराते हैं .

जैसे कि 5 साल तक कोई payment नही, इसके अलावा software products पर कोई import या export ड्यूटी नही, इसकी help से आपको normal rate से कम rate पर office भी उपलब्ध हो सकता है. अब India में अपने स्टेट और agent के department of employment में खुद को एक employer के रूप में register भी करवा लें.

ताकि आप उस state में job adds दे सकें. और अपनी company के over position के लिए suitable candidates को higher कर सकें.

Office location को choose करें?

छठा step है कि office location को choose करें, अपने office के लिए location choose करते time आपको company के size, employes और और उस area में available technology और available resources जैसे कि internet connection को ध्यान में रखना होगा .

शुरुआत में आपको office space में minimum possible investment ही करना चाहिये. आप इसे randया niche पर भी ले सकते हैं शुरुआत में ज्यादा खर्चा space पर लगाने से बचें.

Energetic and Anthropological Staff को higher करें?

और आगे है सातवां step जो है Energetic and Anthropological Staff को higher करें अपने software company का setup करने के बाद आपको ऐसे skilled stoff को higher करना होगा जो आपकी company को नई ऊचाईयों पर ले जाएँ .

इसके लिए उनमे software development की knowledge, higher education और technological skills होनी चाहिये. शुरुआत में आप दो से तीन software engineers और 1 से 2 computer programming professionals को higher कर सकतें हैं.

Employees को higher करते समय आपको freshers को तो बदल देना ही चाहिये. लेकिन अपने specific field के लिए experienced employees तो जरुर higher करने चाहिये .

आज नया क्या सिखा?

तो दोस्तों इस तरह सही Business plan, सही software company type और setup के साथ अपनी software company start कर सकते हैं.

दोस्तों, हमें उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आई होंगी, और आपकी काफी help भी करेगी.

यदि आपको यह (Software Company kaise start kare) पाए  पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये Best Skills to Learn for Jobs.

I hope guys like this Software Company kaise start kare.

Youtuber Kaise Bane in Hindi | यूट्यूब चैनल के नियम

Spread the love

2 thoughts on “सॉफ्टवेयर कंपनी कैसे शुरू करें | कंपनी कैसे शुरू करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.