Pediatrician कैसे बनें? | What is Pediatrician in hindi

Pediatrician kaise bane- पीडियाट्रीशियन एक तरह के डॉक्टर के होते हैं जो बच्चों के डॉक्टर होते हैं बहुत से लोग पीडियाट्रिशियन बनना चाहते है लेकिन उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी नही होती है इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको इससे रिलेटेड पूरी जानकारी देंगे.

पीडियाट्रीशियन क्या है? (What is Pediatrician in hindi)

पीडियाट्रीशियन एक तरह के बच्चों के डॉक्टर होते हैं जो उनकी बिमारियों का इलाज करते हैं. ये डॉक्टर छोटे बच्चों से 12 साल तक के बच्चों का इलाज करते है, सभी लोग छोटे बच्चों की बहुत केयर करते हैं फिर भी वो जल्दी बीमार हो जाते हैं क्युकी उनकी रोग प्रतिका क्षमता बहुत कमजोर होती है.

Pediatrician kaise bane
Image Credit: Shutterstock

कई बार ऐसा होता है कि बच्चे रात को बहुत रोते है और हम ये नही समझ पाते हैं कि उनको क्या दिक्कत है. कभी-कभी बच्चा वोमिटिंग करने लगता है, पेट में गैस हो जाती है, बुखार आने लगता है और इसी वजह से दूध नही पीता या खाना भी नही खाता है और छोटे बच्चों में स्किन इन्फेक्शन और सर्दी जल्दी हो जाती है ऐसी बीमारियों को हमे नजरअंदाज बिलकुल नही करना चाहिए इस तरह की कोई भी परेशानी होने पर आप एक अच्छे पीडियाट्रीशियन के पास जाकर बच्चे का इलाज करा सकते हैं. अगर छोटे बच्चे में किसी भी तरह की कोई बीमारी है तो इसका इलाज एक पीडियाट्रीशियन द्वारा ही किया जाता है.

पीडियाट्रीशियन बनने के लिए योग्यता क्या करना होनी चाहिए?

पीडियाट्रीशियन बनने के लिए आपको साइंस स्ट्रीम से 12th पास करना होगा. 12th में आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट को चुनना होगा. इसके बाद आपको मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट (जैसे- नीट यू जी टेस्ट) देगा होगा और ये टेस्ट क्लियर करने के बाद मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया द्वारा एमबीबीएस, बैचलर ऑफ़ मेडिसिन या फिर बैचलर ऑफ़ सर्जरी की डिग्री लेना होगा, एमबीबीएस की डिग्री में आपके 55% मार्क्स होना जरूरी है, और उसके बाद 3 साल की पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री लेना होगा मतलब कि एम डी इन पीडियाट्रिक्स की डिग्री भी लेना होगा.

M D पीडियाट्रिक्स कोर्स करने के लिए टॉप कॉलेज कौन-कौन से हैं?

M D इन पीडियाट्रिक्स कोर्स करने के लिए बेस्ट कॉलेज-

आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज, न्यू डेल्ही,

पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, चंडीगढ़,

जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पांडुचेरी,

St. John’s मेडिकल कॉलेज, बेंगलुरु,

अमृता यूनिवर्सिटी, कोयम्बटूर, आदि.

एमडी इन पीडियाट्रिक्स कोर्स करने के लिए लगभग 5 लाख से 25 लाख रूपये तक फीस लग सकती है.

M D पीडियाट्रिक्स कोर्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट्स होते है?

M D पीडियाट्रिक्स कोर्स के कुछ मेन सब्जेक्ट्स है-

ग्रोथ एंड डेवलपमेंट, बिहेवियरल एंड डेवलपमेंट डिस-ऑर्डर्स, निनोटोलॉजी (Neonatology), जेनेटिक्स, सोशल पीडियाट्रिक्स, न्यूट्रिशियन, कार्डियोवैस्कुलर, रेस्पिरेटरी, Gastrointestinal and लीवर डिजीज, डाइजेस्टिव सिस्टम, न्यूरोलॉजी डिस-ऑर्डर्स, रेनल डिस-ऑर्डर्स, हेमाटोलॉजी एंड ऑन्कोलॉजी, एंडीक्रीनोलॉजी, इन्फेक्शन्स, इम्युनोलॉजी एंड Rheumatology, इमरजेंसी एंड क्रिटिकल केयर, ENT, आई डिजीज, स्किन डिजीज, ओर्थोपेडिक, साइकोलॉजिकल डिस-ऑर्डर्स, सोशल इश्यूज, चिल्ड्रेन सिस्टमविथ स्पेशल नीड्स, फ़ीटस एंड न्यू बोर्न, सेंट्रल नर्वस सिस्टम, और यूरोलॉजिकल डिस-ऑर्डर्स आदि.

एम डी पीडियाट्रिक्स कोर्स करने के बाद आपको कौन-कौन से जॉब ऑप्शन्स मिल सकते हैं?

एमडी कोर्स करने के बाद आप प्राइवेट और गवर्नमेंट हॉस्पिटल्स की जॉब्स के अलावा रिसर्च लैबोरेट्रीज, क्लीनिक, मेडिकल सेंटर्स, रेलवे सर्विसेज, और मिलिट्री में भी जॉब पा सकते हैं. इस कोर्स को करने के बाद पीडियाट्रीशियन के साथ-साथ फार्मेसी मैनेजर, कंसलटेंट, और प्रोफेसर जैसी जॉब भी पा सकते हैं.

पीडियाट्रीशियन के अलावा आप और कौन-कौन सी जॉब्स पा सकते हैं?

पीडियाट्रीशियन के अलावा आप अपने इंटरेस्ट के अनुसार इसकी और दूसरी जॉब्स जैसे- पीडियाट्रिक सर्जन, Neonatologist, डेवलपमेंटल- बिहेवियरल पीडियाट्रीशियन, पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजिस्ट , पीडियाट्रिक ओर्थोपेडिस्ट्स, और पीडियाट्रिक एंडीक्रीनोलॉजिस्ट के आप्शन भी चुन सकते हैं.

एक पीडियाट्रीशियन बनने के लिए आपमें मरीज के साथ लम्बे टाइम तक बात करने की एबिलिटी, नॉलेज, डिसिप्लिन, कमिटमेंट, और काइंड नेचर का होना जरूरी है.

पीडियाट्रीशियन को रिक्रूट करने वाली टॉप कंपनी कौन सी है?

पीडियाट्रीशियन को रिक्रूट करने वाली टॉप कंपनी के नाम है- AIIMS (दिल्ली), फोर्टिस, मैक्स हेल्थकेयर, अपोलो, सूर्या चाइल्ड केयर (मुंबई), सर गंगाराम हॉस्पिटल (डेल्ही), क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (वेल्लोर) आदि

पीडियाट्रीशियन की सैलरी कितनी होती है?

एक पीडियाट्रीशियन की सैलरी उसके प्रैक्टिस और एक्सपीरियंस पर भी डिपेंड करती है लेकिन सिम्पली एक पीडियाट्रीशियन की स्टार्टिंग सैलरी  5 लाख 17 हजार पर एनम हो सकती है जो सीनियर लेवल तक पहुँचते-पहुंचते 34 लाख रुपयों तक हो जाती है.

इसे भी पढ़ें?

जॉब इंटरव्यू कैसे दें? | इंटरव्यू में ज्यादातर सवाल कौन-कौन पूछे जाते हैं?

NDA क्या है? | NDA के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?

Indian Coast Guard कैसे बनें? | इंडियन कोस्ट गार्ड में कौन-कौन से पद आते हैं?

Goods sportsperson कैसे बनें? | Good sportsperson कौन है

Dyslexia क्या है? | What is Dyslexia in hindi

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (Pediatrician kaise bane) आर्टिकल आपको बहुत पसंद आया होगा और आपके लिए काफी यूजफुल भी होगा, इसमें हमने आपको पीडियाट्रीशियन बनने से रिलेटेड सभी जानकारी दी है.

हमारी ये (Pediatrician kaise bane) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ भी कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *