NEET exam क्या है? | NEET की तैयारी कैसे करे

neet exam kya hai hindi

लाइफ में सभी लोग आगे बढ़ना चाहते हैं अपने पसंद की फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं आप में से बहुत से लोग डॉक्टर, इंजीनियर और कोई डिज़ाइनर या फिर बहुत सी दूसरी फील्ड में जाना चाहते हैं सभी फील्ड की प्रोसेस अलग-अलग होती हैं.

जिन्हें पूरा करके ही आप आपने पसंद का करियर आप्शन पा सकते हैं इनमे से जो लोग डॉक्टर बनना चाहते हैं लेकिन उसके लिए आपको क्या करना होगा ये पता होना जरूरी है इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको डॉक्टर बनने से रिलेटेड पूरी जानकारी देंगे इसमें हम आपको बतायेंगे कि कैसे आप नीट का एग्जाम क्लियर करके डॉक्टर बन सकते हैं.

नीट (NEET) क्या है? (What is neet in hindi)

neet exam kya hai in hindi

नीट का पूरा नाम  नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट होता है ये इंडिया में मेडिकल एजुकेशन से रिलेटेड कोर्सेज एमबीबीएस और बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए वाले स्टूडेंट्स को क्लियर करना पड़ता है इस एग्जाम को क्लियर करके इन कोर्सेज में एडमिशन पा सकते हैं नेशनल टेस्टिंग एजेंसी में आपको ये टेस्ट क्लियर करना पड़ता है.

नीट एग्जाम के कितने लेवल होते हैं?

नीट एग्जाम दो लेवल पर होता है-

यूजी(अंडरग्रेजुएट) एंड पीजी(पोस्ट ग्रेजुएट)

यूजी लेवल पर आप एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में और पीजी लेवल में एम.एम. और एम.डी जैसे कोर्सेज के लिए एंट्रेंस टेस्ट कंडक्ट किया जाता है. नीट(यूजी)- 5मई 2019 को हुआ था और 5 जून 2019 को उसका रिजल्ट डिक्लेयर कर दिया गया था.

नीट की जरूरत क्यों हुई?

इंडिया में नीट से पहले मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अलग-अलग तरह के 90 एक्साम्स हुआ करते थे जिसमे से एआईपीएमटी, सीबीएससी(सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकंड्री एजुकेशन) द्वारा कंडक्ट किया जाता था और सभी स्टेट्स अलग-अलग एंट्रेंस टेस्ट कंडक्ट करते थे तो ऐसे में आपको लगभग 7 से 8 एंट्रेंस टेस्ट देने होते थे ऐसे में स्टूडेंट हर एग्जाम को बहुत ही प्रेशर होता था

बल्कि हर एग्जाम के साथ एप्लीकेशन फीस और एंट्रेंस टेस्ट मे अपेयर होने के लिए बहुत खर्च भी लगता था तो इसीलिए इस फाइनेंसियल बर्डन को हटाने और टाइम और अफ्फोर्ट को वेस्ट होने से रोकने के लिए नीट एग्जाम कंडक्ट किया गया है, अलग-अलग एग्जाम को क्लियर करने के लिए अलग-अलग स्लेबस को पूरा करना पड़ता था लेकिन अब आज के टाइम मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए आपको सिर्फ एक एग्जाम क्लियर करना होता है नीट.

नीट ने एआईपीएमटी और टेस्ट लेवल सीईटी जैसे- डेल्ही-पीएमटी, एमएचसीईटी, आर-पीएमटी, डब्ल्यूबीजेईई, ईएएमसीईटी को भी रिप्लेस कर दिया गया है जो स्टूडेंट्स के लिए बहुत ही अच्छी बात है.

नीट के लिए Qualification क्या होनी चाहिए?

नीट एक तरह का सिंगल स्टेज का ऑफलाइन एग्जाम है अब आने वाले समय में ये एक्साम ऑफलाइन कराया जायेगा या फिर ऑनलाइन, अभी कुछ तय नही हुआ है, ये हो सकता है कि आने वाले टाइम में नीट एग्जाम साल में 1 बार की बजाय दो बार कराए जा सकते हैं.

नीट एक्साम की ड्यूरेशन 3 घंटे की होती है इसमें ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन्स आते हैं और नेगेटिव मार्किंग भी होती है, इस एग्जाम को देने के लिए आपको 12th क्लास फिजिक्स, केमिस्ट्री बायोलॉजी/बायो- टेक्नोलॉजी सब्जेक्ट्स से क्लियर करना होगा, नीट के एग्जाम में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी(बॉटनी, जूलॉजी) से रिलेटेड क्वेश्चन्स आते हैं.

इस एग्जाम को देने के लिए कैंडिडेट का इंडियन सिटीजन होना कम्पलसरी है नीट में अपेयर होने के लिए आपके सब्जेक्ट्स में मैथ का होना जरूरी नहीं है, इस एग्जाम में अप्लाई करने के लिए कैंडिडेट की ऐज मिनिमम 17 साल होनी चाहिए इस एग्जाम के लिए कोई अप्पर ऐज लिमिट नही है

इस एग्जाम देने के लिए अंरिसर्वड कैंडिडेट को क्लास 12th में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट्स में लगभग 50% मार्क्स होना जरूरी है लेकिन ओबीसी, एससी और एसटी कैंडिडेट्स के लिए ये मार्क्स 40% होने चाहिए. इस एग्जाम में कैंडिडेट कई बार अप्लाई कर सकता है.

नीट एग्जाम की प्रिप्रेशन कैसे करें?

इस एक्साम को क्लियर करने के लिए आपको काफी ज्यादा मेहनत करने की जरूरत होगी, आप अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को क्रैक करने में लगाइए इसके लिए आपको 12th भी अच्छे से क्लियर करना होगा आपकी स्कूल एजुकेशन जितनी अच्छी होगी इस एग्जाम में आपकी पकड़ उतनी ही अच्छी होगी इसीलिए आप फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के बेसिक्स को क्लियर करते हुए आगे बढ़िये

इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा टाइम मैनेज कीजिये अगर आपने एक बार नीट एग्जाम दिया है और अगले अटेम्पट की तैयारी कर रहे हैं तो आपको लास्ट एग्जाम में होने वाली गलतियों का एनालिसिस जरुर कीजिये जिससे आप अगले अटेम्प्ट में फिर से वही गलती न करें जिसकी वजह से आप पहले एग्जाम को पास नही कर पाए थे.

नीट एग्जाम को क्लियर रखने के लिए आपको अपने विज़न को क्लियर रखना होगा इसमें आप औथोंटिक बुक्स की हेल्प ले सकते हैं ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस कीजिये और अपनी हेल्थ का भी पूरा ध्यान रखें कम से कम 6 से 7 घंटे की नींद जरुर लीजिये क्युकी बिना पूरी नींद के आप किसी भी टॉपिक को अच्छे से समझ नही सकते हैं

इसीलिए अपना एक टाईमटेबल बनाइए और अच्छे से एग्जाम की तैयारी कीजिये और इसके लिए आपको प्रेशर और स्ट्रेस से भरे रूटीन को फॉलो करने की बजाय नार्मल रूटीन को फॉलो करना होगा.

नीट की फीस कितनी होती है?

नीट एग्जाम की फीस जेनेरल कैंडिडेट के लिए 1400 रूपये और एससी, एससी कैंडिडेट के लिए 750 रूपये होती है आपको ये फीस एग्जाम फॉर्म भरते समय देनी होती है.

Pet exam क्या है? | What is upsssc pet in hindi

B’Pharma क्या है | बी फार्मा कैसे करे?

चीनी भाषा कैसे सीखें? | चाइनीस भाषा को क्यों सीखना चाहिये?

Spanish Language कैसे सीखें? | स्पेनिश लैंग्वेज सीखना चाहिये

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (neet exam kya hai hindi) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा इसमें हमने आपको डॉक्टर बनने से रिलेटेड नीट एग्जाम के बारे में पूरी जानकारी दी है जैसे- नीट (NEET) क्या है? नीट की जरूरत क्यों हुई? नीट के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए? नीट एग्जाम की प्रिप्रेशन कैसे करें? और नीट की फीस कितनी होती है? आदि,

आपको हमारी ये (neet exam kya hai hindi) जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो इस बारे में जानना चाहते हैं और नीट की तैयारी करना चाहते हैं उनके साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.