माइनिंग इंजीनियर कैसे बनें | What is mining engineer in hindi

mining engineer kaise bane

अगर आप एक इंजीनियर की पोस्ट पर काम करना चाहते हैं तो आप एक माइनिंग इंजीनियर भी बन सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होना जरुरी है तो अगर आप एक माइनिंग इंजीनियर बनना चाहते हैं और आपको इसके बारे में पूरी जानकारी नही है तो आज इस आर्टिकल में हम आपको माइनिंग इंजीनियर बनने से रिलेटेड सारी इनफार्मेशन देंगे.

माइनिंग इंजीनियर क्या है? (What is mining engineer in hindi)

माइनिंग इंजीनियरिंग ऐसी टेच्निक और टेक्नोलॉजीस से डील करती है जो पृथ्वी पर मौजूद मिनरल्स को पहचानने और एक्सट्रेक्ट करे में हेल्प करती है एक माइनिंग इंजीनियर अर्थ से मिनरल्स स्ट्रक्ट करने के लिए रेस्पोंसीबल होता है

mining engineer kaise bane

और साथ ही माइंस के प्रोसेस को इन्स्योर करना भी माइनिंग इंजीनियर की ड्यूटी होती है और इस टाइम उन्हें सेफ्टी मेजर का पूरा ध्यान रखना होता है इंडिया में माइनिंग और जियोलाजिकल इंजीनियर्स कीई जॉब में काफी ग्रोथ हो रही है.

माइनिंग इंजीनियर बनने का क्राइटेरिया क्या है?

माइनिंग इंजीनियर बनने के लिए आप 3 साल का डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं इसके लिए आपके पास 10th क्लास का सर्टिफिकेट होना चाहिये आप माइनिंग इंजीनियरिंग में 4 साल का बी.इ या फिर बीटेक कोर्स कर सकते हैं इसके लिए आपका 12th क्लियर होना जरूरी है इसके लिए आपको साइंस स्ट्रीम में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट्स होने चाहिये और इसमें आपके 50% मार्क्स होना जरूरी है

डिफरेंट केटेगरीस को इसमें छूट भी दी जाती है जिन कैंडिडेट्स ने माइनिंग इंजीनियर में डिप्लोमा किया है उन्हें लेटरएंट्री के द्वारा बीटेक और बी.ई के 2nd इयरमें एडमिशन मिल जाता हैं, बैचलर डिग्री लेने के बाद आप माइनिंग इंजीनियरिंग में 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स (जैसे- एम इ या एमटेक) कोर्स कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास माइनिंग इंजीनियरिंग में बी.ई या बीटेक की डिग्री होनी चाहिये.

माइनिंग इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन प्रोसेस क्या है?

माइनिंग इंजीनियरिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स में मेरिट बेस पर भी एडमिशन मिल जाता है और आप इसमें एंट्रेंस एक्साम्स के द्वारा भी एडमिशन पा सकते हैं

जैसे- टी एस पॉलिसेट, आसाम पैट, एपी पॉलिसेट और सीजी पीपीटी आदि, कुछ प्राइवेट पॉलिटेक्निक कॉलेज में आप डायरेक्ट एडमिशन भी ले सकते हैं यू जी कोर्स में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होगा

जैसे- जे इ इ मेन, एमएचटी सीइटी, एपी इ ए एम सी इ टी,के सी इ टी, के इ ए एम, टीएस इ ए एम सी इ टी और डब्ल्यू बी जे इ इ और ये कुछ कॉलेजस के नाम जहाँ से आप डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं अगर आप नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको जे इ इ में कम से कम 80 से 90% मार्क्स लाने होंगे,

और आइआइटी में एडमिशन लेने के लिए आपको जे इ इ(मेन्स) में 90% मार्क्स गेन करना होगा और आपको जे इ इ एडवांस्ड क्लियर करना होगा

जैसे- (ग्रेजुएट अप्टिट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग) गेट, नॉर्थ ईस्टर्न रीजनल इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी और बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी एंट्रेंस एग्जाम आदि.

आप डिप्लोमा कोर्स के लिए इन कॉलेजस अन्नामलाई यूनिवर्सिटी अन्नामलाई नगर, गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक नागपुर, सेंचूरियन यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट भुबनेश्वर, कलिंगा यूनिवर्सिटी रायपुर और सिंघानिया यूनिवर्सिटी झुनझुनू आदि में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

तथा यू जी/पीजी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गुहावटी,

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी खड़कपुर,

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली,

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कानपुर,

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मुंबई,

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कुरुक्षेत्र,

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रायपुर

गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज  गुजरात,

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ माइंस धनबाद,

डेल्ही टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी नई दिल्ली,

बनस्थली यूनिवर्सिटी जयपुर,

तमिलनाडु एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी कोयम्बटूर

आदि कॉलेजस में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

माइनिंग इंजीनियरिंग की फीस कितनी है?

माइनिंग इंजीनियरिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स की फीस 50 हजार रूपये पर इयर हो सकती है, यू जी कोर्स की फीस 1 लाख रूपये पर इयर हो सकती है लेकिन इंस्टिट्यूट के अनुसार आपको छूट भी मिल सकती है पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट) कोर्स की फीस में 50 हजार से 2 लाख पर इयर का वेरिएशन देखा जा सकता है.

माइनिंग इंजीनियर बनने के लिए कौन-कौन सी स्किल्स होनी चाहिये?

माइनिंग इंजीनियर बनने के लिए आपके अंदर प्रॉब्लम सोल्विंग स्किल्स,  मैनेजमेंट स्किल्स और एनालिटिकल स्किल्स होनी चाहिये और ट्रेवलिंग करना आपके लिए कम्फ़र्टेबल होना जरूरी है.

माइनिंग इंजीनियर में जॉब कौन कौन है

माइनिंग इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप

जूनियर माइनिंग इंजीनियर,

टेक्निकल कंसलटेंट,

अस्सिस्टेंट माइनिंग ऑपरेटर,

अस्सिस्टेंट टेक्निकल साइंटिस्ट,

अकाउंट क्लर्क और टेक्निकल प्रोग्राम एग्जीक्यूटिव में जॉब ऑप्शन्स पा सकते हैं.

माइनिंग इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री लेने के बाद आप

अस्सिस्टेंट माइनिंग इंजीनियर,

माइनिंग इंजीनियर,

मिनरल प्रोसेसिंग इंजीनियर,

माइनिंग इंजीनियर टेकनीशियन,

मिनरल एक्स्प्लोरर,

माइन प्लानर,

डेप्युटी चीफ मैकेनिकल,

टेक्निकल कंसलटेंट और एग्जीक्यूटिव माइन मैनेजर की जॉब पा सकते हैं.

माइनिंग माइनिंग इंजीनियरिंग में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करने के बाद आप

माइनिंग इंजीनियर,

माइनिंग ऑपरेटर,

माइनिंग मैनेजर,

रिसर्चर,

टेक्निकल कंसलटेंट,

टेक्निकल साइंटिस्ट,

अकाउंट मैनेजर और टेक्निकल प्रोग्राम लीडर की पोजीशन पर जॉब ऑप्शन्स पा सकते हैं.

माइनिंग इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या डिग्री कम्पलीट करने के बाद आपको हायर करने वाले टॉप रेक्रूटर्स के नाम क्या हैं?

माइनिंग इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या डिग्री कम्पलीट करने के बाद आपको हायर करने वाले गवर्नमेंट सेक्टर्स हैं गवर्नमेंट ऑपरेटेड माइनिंग फिर्म्स,

ओएनजी,

जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया,

कोल इंडिया,

आयल एंड सील,

राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स,

गुजरात मिनरल्स डेवलपमेंट कारपोरेशन,

ओडिशा माइनिंग कारपोरेशन और तमिलनाडु मिनरल्स लिमिटेड आदि. और प्राइवेट सेक्टर्स

जैसे- माइनिंग कम्पनीज, मिनरल प्रोसेसिंग कम्पनीज, मिनरल प्रोडक्शन कम्पनीज है जो आपको जॉब के लिए हायर कर सकती है.

माइनिंग इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है?

माइनिंग इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्स कम्पलीट करने के बाद आप एक फ्रेशर के तौर पर 1.8 से 2.2 लाख पर एनम सैलरी पा सकते हैं, ग्रेजुएशन के बाद आपकी यही सैलरी 2.5 लाख पर एनम तक हो सकती है, और अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद जॉब करना चाहते हैं तो आपकी सैलरी 3 से 6 लाख रूपये पर एनम हो सकती है.

Martial Arts कैसे सीखें? | What is martial arts in Hindi

फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें | फैशन डिजाइनिंग क्या है?

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (mining engineer kaise bane) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और माइनिंग इंजीनियर बनने से रिलेटेड सारी जानकारी इसमें आपको मिल गयी होगी,

आपको हमारी ये (mining engineer kaise bane) जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो लोग डिप्लोमा या पीजी कोर्स करके ये जॉब करना चाहते हैं उनके साथ भी इस आर्टिकल को जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *