Mechanical Engineer kaise bane | What is Mechanical Engineer in hindi

mechanical engineer kaise bane hindi

ज्यादातर स्टूडेंट्स 10th या 12th क्लियर करने के बाद सोचने लगते हैं कि उन्हें आगे क्या करना चाहिये इतने सारे कोर्सेज में से किसी एक को चुनना काफी मुश्किल होता है अगर आप साइंस से है और इंजीनियर बनना चाहते हैं तो 10th करने के बाद आप आइटीआइ में कौन कौन से सब्जेक्ट्स लेकर मैकेनिकल इंजीनियर फील्ड में आप अपना करियर बना सकते हैं

लेकिन अगर आपको इसके बारे को पूरी जानकारी नही है तो आज इस आर्टिकल में मैकेनिकल इंजीनियरिंग से रिलेटेड पूरी इनफार्मेशन देंगे.

Table of Contents

मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या है? (What is mechanical engineering in hindi)

ये इंजीनियरिंग फील्ड का एक पुराना फील्ड है ये फील्ड में मशीनों की डिज़ाइन, निर्माण और उपयोग से रिलेटेड है इसमें बच्चों को ये सिखाया जाता है कि कैसे बड़ी मशीन्स काम करती हैं जो स्टूडेंट्स इस फील्ड में पढ़ाई करते हैं उन्हें ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिक मोटर्स, एयरक्राफ्ट और कई सारे वाहनों की डिज़ाइन के बारे में सिखाया जाता है.

mechanical engineer kaise bane hindi

मैकेनिकल इंजीनियर, नई बैटरी, एथालिटिक का सामान से लेकर चिकित्सा उपकरणों, पर्सनल कंप्यूटर, एयर कंडिशनर, ऑटोमोबाइल इंजन से लेकर बिजली के सामान तक सब कुछ मैकेनिकल इंजीनियर डिज़ाइन करते हैं ये इंजीनियर नई-नई खोजी गयी मशीनों को भी डिज़ाइन करती हैं.

मैकेनिकल इंजीनियर्स का फ्यूचर में क्या यूज है?

आज के समय में बहुत सी मशीनें आ गयी हैं जिसके लिए हर क्षेत्र में मैकेनिकल इंजीनियर की जरूरत होती है इंडिया में ये कोर्स करने के लिए कई कोर्सेज उपलब्ध हैं.

इस फील्ड में जाने के लिए स्टूडेंट को 12th पास करने के बाद बीटेक या एमटेक की पढ़ाई करना चाहिये लेकिन जो स्टूडेंट्स 10th पास करने के बाद इस फील्ड में आना चाहते हैं उनके लिए कई सारे ऑप्शन्स हैं.

10th पास करने के बाद मैकेनिकल इंजीनियरिंग कैसे करें?

इस फील्ड में जाने के लिए 10th के बाद कई सारे आईटीआई कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज और इंजीनियरिंग कॉलेज/इंस्टिट्यूट मैकेनिकल इंजीनियरिंग से रिलेटेड कोर्स कराती है 10th करने के बाद आपको इन जगहों पर अच्छे ऑप्शन्स मिल जायेंगे जहाँ से आप पढ़ाई करके अपनी पसन्द की फील्ड में जा सकते हैं. आईटीआई और पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्लेसमेंट की फैसिलिटी भी दी जाती है इन आईटीआई या पॉलिटेक्निक कॉलेज से पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको जल्दी ही जॉब मिल सकती है.

आईटीआई कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के फायदे क्याक्या हैं?

इस दुनिया में ज्यादातर लोग डॉक्टर या इंजीनियर बनने के लिए लम्बी पढ़ाई नही कर सकते हैं. लेकिन फिर भी अगर आप एक इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको डिप्लोमा या पूरी डिग्री लेने की जरूरत नही है आईटीआई पॉलिटेक्निक कोर्स करने से स्टूडेंट्स को कई तरह के फायदे होते हैं जैसे- आसानी से जॉब मिलना, कम समय में अच्छी जॉब के साथ करियर सेट हो जाना, 3 या 4 साल में लगने वाले कोर्स से बचना आदि.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए क्या-क्या क्वालिफिकेशन्स होनी चाहिये?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए आपकी ऐज 14 साल से ज्यादा और 40 साल से कम होनी चाहिये आपने 8th/10th किसी रेगुलर और मान्यता प्राप्त स्कूल से पास किया हो आप 8th और 10th के सभी सब्जेक्ट्स में पास होने चाहिये और मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ सब्जेक्ट्स जरूरी हैं वो आपकी 8th और 10th क्लास में होने चाहिये.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने का प्रोसेस क्या है?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेने का प्रोसेस सभी जगहों पर होता है ज्यादातर कंडीशन्स में स्टूडेंट्स का चयन 8th और 10th क्लास में पाए गये नंबरों के बेस पर किया जाता है इसके बाद कॉलेज एक कटऑफ प्रोसेस शुरू करती है जिसमे ज्यादा नंबर वाले स्टूडेंट्स को लिया जाता है कुछ कॉलेज एडमिशन लेने के लिए अलग से एक एंट्रेंस एग्जाम करवाते है

आवेदन करने वाले स्टूडेंट्स को ये परीक्षा क्लियर करनी होती है एंट्रेंस एग्जाम के बाद कुछ कॉलेज में इंटरव्यू भी लिए जाते हैं सभी कॉलेज की अलग-अलग एडमिशन प्रोसेस होती है आप इसका पता कॉलेज की वेबसाइट पर जाकर लगा सकते हैं.

आईटीआई कोर्स का एग्जाम कैसे होता है?

सभी कॉलेजस का अपना-अपना बोर्ड होता है और वो अपने बोर्ड के तहत एग्जाम लेते हैं आईटीआई के जिस कोर्स में स्टूडेंट्स ने एडमिशन लिया है उसकी सारी क्लास ख़त्म होने के बाद उसे ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट का एग्जाम क्लियर करना पड़ता है जो नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग करवाती है एग्जाम क्लियर करने के बाद स्टूडेंट को नेशनल ट्रेड से सर्टिफिकेट मिलता है जिससे स्टूडेंट कही भी अपनी क्वालिफिकेशन और सर्टिफिकेट के आधार पर जॉब के लिए अप्लाई कर सकता हैं.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग से करने के लिए कौन-कौन से कॉलेज बेस्ट हैं?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कराने वाले इंडिया में बहुत से गवर्नमेंट और प्राइवेट कॉलेज हैं

गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट पुरुलिया,

गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिगं इंस्टिट्यूट रायबरेली,

गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट तिरुचेंदुर,

गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट मदुरई,

इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट मांडवी(सूरत),

गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट त्रिची,

सालबोनी गवर्नमेंट आईटीआई,

वीरमाताजीजाबाई टेक्नोलॉजिकल इंस्टिट्यूट मुंबई,

गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक पुने,

गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज औरंगाबाद,

पूसा इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी डेल्ही,

श्री के जी पॉलिटेक्निक कॉलेज भरूच,

एडवांस्ड टेक्निकल ट्रेनिंग सेंटर सिक्किम,

गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक राजकोट,

गुजरात टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी

ये कुछ टॉप कॉलेजस के नाम हैं जहाँ से आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग कर सकते हैं.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बाद आप जॉब कैसे पा सकते हैं?

आईटीआई और पॉलिटेक्निक दोनों कॉलेज अलग-अलग तरह से कार्य करती है ये कोर्स कम्पलीट करने के बाद आपको एक एग्जाम क्लियर करना पड़ता है इसके बाद आपको कई सारे जॉब ऑप्शन्स मिल जाते हैं बहुत से कॉलेज प्लेसमेंट की फैसिलिटी भी देते हैं और आप किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब पा सकते हैं.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद आप किनती सैलरी पा सकते है?

ये कोर्स कम्पलीट करने के बाद जब आप किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब करना शुरू करते हैं तो स्टार्टिंग में आपकी सैलरी कम हो सकती है लेकिन धीरे-धीरे आपकी ये सैलरी आपके एक्सपीरियंस के हिसाब से बढ़ती जाएगी, और अगर कॉलेज से आपका प्लेसमेंट इंडिया में होगा तो आपका पैकेज 50 लाख रूपये पर एनम होगी और अगर आपका प्लेसमेंट इंटरनेशनल हुआ तो आपका पैकेज 1 से ढेड़ करोड़ रूपये होता है.  

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए गवर्नमेंट वैकेंसीस भी निकलती हैं बहुत सी जॉब में आईटीआई स्टूडेंट्स के लिए अलग से रिजर्वेशन भी कराया जाता है जिसमे आप अपनी योग्यता के आधार पर अप्लाई कर सकते हैं इसके अलावा ये स्टूडेंट्स सेंट्रल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट और डिफेंस आदि के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

पायलेट कैसे बनें? | What is pilot in hindi

Interior Designer कैसे बनें | What is Interior Designer hindi

माइनिंग इंजीनियर कैसे बनें | What is mining engineer in hindi

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा (mechanical engineer kaise bane hindi)ये आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा इसमें हमने आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग के रिलेटेड पूरी जानकारी दी है

हमारी ये (mechanical engineer kaise bane hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगाऔर जो लोग इस फील्ड में जाना चाहते हैं उनके साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.