लता मंगेशकर का जीवन परिचय | Lata mangeshkar biography in Hindi

Lata mangeshkar biography in Hindi

दोस्तों आप सभी लोग लता मंगेशकर को तो जानते ही होंगे ये एक गायिका है और इन्होने बहुत सारे भक्ति गाने गाये है लेकिन आप में से बहुत से लोगो को इनके बारे में पूरी जानकारी नही होगी इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको लता मंगेशकर के जीवन से रिलेटेड पूरी जानकारी देंगे जो लोग इनके बारे में पूरी जानकारी लेना चाहते है वो हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़े.

Lata mangeshkar biography in Hindi
Lata mangeshkar

लता मंगेशकर का जीवन परिचय (Lata mangeshkar biography in Hindi)

लता मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था इनके पिता का नाम श्री दीनानाथ मंगेशकर है जो एक क्लासिकल सिंगर होने के साथ-साथ थिएटर में काम भी किया करते थे. लता जी को अपने पिता से गायकी विरासत में मिली थी इनकी माता का नाम शेवन्ती देवी था शेवन्ती देवी दीनानाथ मंगेशकर की दूसरी पत्नी थी इनकी पहली पत्नी का नाम नर्मदा देवी थी जिनकी मृत्यु के बाद इनकी शादी नर्मदा देवी की छोटी बहन शेवन्ती देवी से हुई. लता मंगेशकर के अलावा इनके तीन बहनें और एक भाई भी है जिनका नाम मीना खडीकर, आशा भोसले और उषा मंगेशकर है और भाई का नाम हृदय नाथ मंगेशकर है, लता अपने भाई बहनों में सबसे बड़ी है.

लता मंगेशकर का परिचय:-

नाम लता मंगेशकर
जन्म 28 सितम्बर 1929
जन्मस्थान इंदौर, मध्यप्रदेश
माता का पिता शेवंती मंगेशकर,
पिता का नाम दीनानाथ मंगेशकर
भाई हृदानाथ
बहन का नाम मीना, आशा, और उषा
निधन 6 फ़रवरी 2022 मुंबई
आयु 92 वर्ष
लम्बाई 155cm
वजन 65kg
आँखों का रंग काला
बालों का रंग सफेद और काला
राशि तुला
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर मुंबई, भारत
स्कूल/विद्यालय Attended a Catholic School in Orbassano, a town near Turin, Italy
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय Bell Educational Trust’s language school, Cambridge City, England
डेब्यू पार्श्व गायिका (फिल्म)- ‘माता, एक सपूत की दुनिया बदल दे तू’ (‘गजाभाऊ मराठी, 1943)
धर्म हिन्दू
जातीयता महाराष्ट्रीयन
शौक/अभिरुचि क्रिकेट देखना, साइकिल चलाना
विवाद • एक बार लता मंगेशकर और एस. डी. बर्मन के बीच मतभेद उत्पन्न हुए, और उन्होंने 7 वर्ष तक एक-दूसरे के साथ काम करने से इनकार कर दिया.

• एक समय में, लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी के बीच रॉयल्टी के मुद्दे पर मतभेद हो गए, क्योंकि लता संगीत एलबम में हिस्सा लेना चाहती थीं, जबकि रफी वेतन के लिए गीत गाते थे.

पसंदीदा संगीत निर्देशक गुलाम हैदर, मदन मोहन, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, ए आर रहमान
पसंदीदा फिल्में किस्मत (1943), जेम्स बॉण्ड की फिल्में
पसंदीदा खेल क्रिकेट
पसंदीदा क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर
पसंदीदा स्थान लॉस एंजेलिस
पसंदीदा भोजन ‎मसालेदार भोजन
पसंदीदा पेय-पदार्थ कोका-कोला
पसंदीदा राजनीतिज्ञ अटल बिहारी बाजपेयी
पसंदीदा अभिनेता दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन, और देव आनंद
पसंदीदा अभिनेत्री नरगिस, मीना कुमारी
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामले भुपेन हजारिका (गीतकार)
कार मर्सिडीज बेंज
नेटवर्थ 60 करोड़ भारतीय रुपए (2016 के अनुसार)

लता मंगेशकर के करियर की शुरुवात कैसे हुई?

लता जी जब सिर्फ 5 साल की थी तो उन्होंने पहला काम अपने पिता के एक नाटक में किया था इससे वे ट्रेनिंग लेती रही और साल 1942 में 13 साल की उम्र में इन्होने एक मराठी फिल्म के लिए गाना रिकॉर्ड किया. फिल्म रिलीज़ हुई लेकिन किसी कारण से उस फिल्म से गाना हटा दिया गया, इस बात से लता जी बहुत दुःख हुआ. इसी साल लता जी के पिता को दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई. लता जी अपने घर में सब भाई-बहनों में सबसे बड़ी थी तो सबसे बड़ी होने के कारण साड़ी ज़िम्मेदारी उनके कंधो पर आ गई. विनायक दामोदर एक फिल्म कंपनी के मालिक थे, जो दीनानाथ जी के अच्छे मित्र थे, उनके जाने के बाद उन्होंने लता जी के परिवार को संभाला है.

लता मंगेशकर जी का पहला गाना कौन  सा था?

लता जी साल 1945 में मुंबई चली गई और अमानत अली खान से ट्रेनिंग लेने लगी. लता जी ने 1947 में हिंदी फिल्म ‘आप की सेवा में’ के लिए भी एक गाना गया, लेकिन उनके इस गाने को किसी ने नोटिस नहीं किया. उस समय गायिका शमशाद बेगम, नूर जहान, ज़ोह्राभई अम्बलेवाली थी, बस यही गायिका पूर्ण रूप से सक्रीय थी, उनके सामने लता जी की आवाज काफी दबी हुई लगती थी. लेकिन फिर साल 1949 में लता जी ने लगातार 4 हिट फिल्मों में गाने गए और इन गानों में सभी लोगों ने उन्हें नोटिस किया गया. बरसात, दुलारी, अंदाज व महल फ़िल्में हिट थी, इसमें से महल फिल्म का गाना ‘आएगा आनेवाला’ सुपर हिट हुआ और लता जी ने सिनेमा में अपनी एक अच्छी पोजीशन पा ली.

फिल्म का नाम गाने के बोल सन
गजभाऊ (मराठी फिल्म) माता एक सपूत की दुनिया बदल दे तू (हिंदी गाना) 1943

लता लंगेश्कर को मिलने वाले पुरस्कार कौन-कौन  से है?

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार
• फ़िल्म परिचय के गाने के लिए साल 1972 में इन्हें सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका का पुरस्कार मिला.
• फ़िल्म कोरा कागाज़ के गाने के लिए साल 1974 में सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका का पुरस्कार मिला.
• फ़िल्म लेकिन के गाने के लिए साल 1990 में सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका का पुरस्कार दिया गया.
फिल्मफेयर पुरस्कार
• सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “आजा रे परदेसी” (मधुमती) के लिए साल 1959 में इन्हें पुरस्कार दिया गया.
• सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “कहीं दीप जले कहीं दिल” (बीस साल बाद) के लिए साल 1963 में पुरस्कार मिला.
• सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “तुम्हीं मेरे मंदिर, तुम्हीं मेरी पूजा” (ख़ानदान) के लिए साल 1966 में पुरस्कार मिला.
• सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “आप मुझे अच्छे लगने लगे” (जीने की राह) के लिए साल 1970 में पुरस्कार मिला.
• इन्हें साल 1994 में, फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड मिला.

  • फिल्मफेयर विशेष पुरस्कार गीत “दीदी तेरा देवर दिवाना” (हम आपके हैं कौन) के लिए साल 1995 में पुरस्कार दिया गया.
    महाराष्ट्र राज्य फिल्म पुरस्कार
    • लता मंगेशकर को सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका फिल्म “साधी माणसं” के लिए साल 1966 में पुरस्कार मिला.
    • सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका फिल्म “जैत रे जैत” के लिए साल 1977 में पुरस्कार मिला.
    • इन्हें महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से साल 1997 में सम्मानित किया गया.
    • इन्हें महाराष्ट्र रत्न (प्रथम प्राप्तकर्ता) से साल 2001 में सम्मानित किया गया.
    भारत सरकार पुरस्कार
    • साल 1969 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया.
    • साल 1989 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.
    • लता मंगेशकर को साल 1999 में, पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया.
    • साल 2001 में लता मंगेशकर को भारत रत्न से सम्मानित किया गया.
    • लता मंगेशकर को साल 2008 में भारत की आजादी के 60 वीं वर्षगांठ स्मृति के दौरान “लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड” से सम्मानित किया गया।
    इसके अलावा उन्हें कई अन्य, पुरस्कार और सम्मान भी दिए गया हैं.

इनके गुरू उस्ताद गुलाम हैदर जी ने लता को एक पार्श्वगायिका के रूप में पहचान दिलाई, गुलाम हैदर जी ने इनको संगीत के अलग-अलग क्षेत्र में पहचान दिलाई क्योंकि लोगों का ऐसा मानना था कि लता जी की आवाज बहुत पतली है और यह पार्श्वगायिका बनने के लायक नहीं है तब लता जी के गुरू गुलाम हैदर ने यह बात साबित करने का बीड़ा उठाया कि भविष्य में लता जी एक सफल और प्रसिद्ध पार्श्वगायिका बनेंगी और फिर उन्होंने एक सफल गायिका बनने में लता की बहुत मदद की.

इसे भी पढ़ें?

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

शहनाज गिल का जीवन परिचय

नितिन गडकरी का जीवन परिचय

श्रेया घोषाल का जीवन परिचय (पति, उम्र, नेटवर्थ)

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों हम उम्मीद करते है कि हमारा ये (Lata mangeshkar biography in Hindi) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए काफी हेल्पफुल भी होगा क्युकी इसमें हमने आपको लता मंगेशकर के जीवन के बारे में पूरी जानकारी दी है.

हमारी ये (Lata mangeshkar biography in Hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.