Jio टावर कैसे लगवाएं? | टावर लगवाने से कितने पैसे मिलेंगे?

Jio tower kaise lagwaye

Jio tower kaise lagwaye

जिओ टावर कैसे लगवाएं?

टावर लगवाने के लिए आपके पास खाली जमीन या प्लाट होना चाहिये और उसी जगह पर रोड होनी चाहिये जिससे गाड़ियां आ जा सके और आपके पास जमीन के सभी डाक्यूमेंट्स होने चाहिये जहाँ पर भी आप टावर लगवाना चाहते है वहाँ पर तीन किलोमीटर की रेंज में कोई टावर नही होना चाहिये तो आज आपको टावर लगवाने की पूरी जानकारी देंगे.

प्राइवेट लिमिटेड कंपनी कैसे खोले

मोबाइल टावर कौन लगाता है?

एयरटेल, वोडाफोन, जिओ ये सभी खुद अपनी कंपनियां नही लगवाती है तो टावर कौन लगाता है तो टावर लगाने वाली भारत में तीन सबसे बेस्ट कंपनियां है

  1. इंडस टावर्स
  2. भारती इन्फ्राटेल
  3. ए टी सी(अमेरिकन टावर कारपोरेशन) इंडिया

टाइप्स ऑफ टावर

  1. स्माल टावर इसे आप अपने छत पर लगवा सकते हैं क्युकी सिटी में बहुत कम ई-कॉमर्स है .
  2. बिग टावर इसे आप अपने प्लाट में, एग्रीकल्चर लैंड में लगवा सकते है.

टावर लगवाने के लिए कौन-कौन सी आवश्यकतायें होती है?

आधार/पैन कार्ड

जिओ का टावर लगवाने के लिए आपके पास एग्रीमेंट के लिए आधार/पैन कार्ड की जरूरत होती है.

स्पेस

इसके लिए आपके पास स्पेस होना चाहिये अगर आप प्लाट में टावर लगवाना चाहते हैं तो आपके पास 2000 स्क्वायर फिट स्पेस होनी चाहिये और अगर छत पर टावर लगवाना चाहते हैं तो आपके पास 500 स्क्वायर फिट की स्पेस होनी चाहिये.

लैंड के डॉक्यूमेंट

आपके पास लैंड के डाक्यूमेंट्स होने चाहिये क्युकी जिसके नाम पर लैंड के डाक्यूमेंट्स होंगे उसी के नाम पर आपको अप्लाई करना होता है.

क्लियर टाइटल

इसमें आपके लैंड के जो भी डाक्यूमेंट्स हों वो क्लियर होने चाहिये मतलब कोई भी लोन वगैरह नही होना चाहिये.

सेफ्टी स्ट्रक्चरल सर्टिफिकेट

जब भी आप बिल्डिंग या छत पर टावर लगवाते हैं तो आपको एक सेफ्टी स्ट्रक्चरल सर्टिफिकेट लेना पड़ता है.

पास में कही स्कूल या हॉस्पिटल न हो

अगर आप जहाँ पर टावर लगवाना चाहते हैं वहां आस पास कोई स्कूल या हॉस्पिटल है तो आपको टावर लगवाने की परमिशन नही मिलेगी.

एनओसी साइन

आप टावर को शहर में लगवाएं या गांव में, वहां के आस-पास के लोगों से साइन लेने होते हैं कि यहाँ पर टावर लगने से उन्हें कोई ऑब्जेक्शन नही है.

कंपनी टावर लगवाने के लिए कितना एडवांस और कितना रेंट देती है?

आपको टावर (Jio tower kaise lagwaye) लगवाने के लिए कंपनी द्वारा एडवांस कुछ भी नही दिया जाता है और इसमें कंपनी द्वारा रजिस्ट्रेशन या कोई भी फीस नही ली जाती है बल्कि इसमें डाक्यूमेंट्स के चार्जेज भी कंपनी ही प्रोवाइड कराती है.

अगर गांव में आप ये टावर लगवाते हैं तो 5 हजार से 10 हजार रूपये तक आपको रेंट दिया जाता है और अगर आप सिटी में जिओ टावर लगवाते हैं या छत पर लगवाते हैं तो भी आपका रेंट 5 से 10 हजार के बीच ही रहता है लेकिन अगर आप सिटी में प्लाट के ऊपर टावर लगवाते हैं वहां पर लैंड की वैल्यू के अनुसार ही रेंट डिसाइड होता हैं.

टावर लगवाने के लिए अप्लाई कैसे करें?

इसमें हम दो तरह से कर सकते हैं

ऑफलाइन

इसमें आपको कही जाकर डॉक्यूमेंट सबमिट नही करना पड़ता है और न ही कही इन्क्वायरी करनी है और न कही किसी के ऑफिस में जाना है इसमें एक सिम्पल प्रोसेस होता है अच्कोर्डिंग टू डाक्यूमेंट्स कंपनी के जो ऑफिसर्स होते हैं वो उस लोकेशन पर विजिट करते है जहाँ पर भी डिमांड होते है उनके पास एक नेटवर्क कनेक्टर होता है उसके हिसाब से वो लोकेशन डिसाइड करते हैं और उसी एरिया में जो भी उन्हें लैंड दे देता है वही पर वो टावर इंस्टाल कर देते हैं.

ऑनलाइन

सबसे पहले आपको (Jio tower kaise lagwaye) इसकी ऑफिसियल साइट पर जाना होता है साइट ओपन होने के बाद आप स्क्रॉल करके नीचे आयेंगे तो वहां पर आपको एक यूजफुल लिंक्स का ऑप्शन मिलेगा उस पर आपको क्लिक करना है क्लिक करने के बाद आपको नेटवर्क पार्टनर का ऑप्शन मिलेगा उस पर आपको क्लिक करना है उसके बाद आपसे पूछा जायेगा कि आप टावर कहाँ लगवाना चाहते हैं

जहाँ लगवाना चाहते हैं वो ऑप्शन आपको सेलेक्ट कर लेना है उसके बाद आको टर्म एंड कंडीशन्स का ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करने पर एक पेज ओपन होगा उसको पढ़ने से आपके बहुत सारे डाउट्स क्लियर हो जायेंगे और फिर आपको कन्फर्म करना हैं ये इसका सबसे इम्पोर्टेन्ट पार्ट है तो इसमें आपको सबसे पहले यहाँ पर आपको पिनकोड भरना है जैसे आप पिन कोड भरेंगे तो उपर जो मैप दिया गया है वहां के लोकेशन के आस-पास का एरिया आ जायेगा

यहाँ पर आपको वही डिटेल्स भरनी है जहाँ आप टावर लगवाना चाहते हैं उसके बाद वहाँ पर आपको सेटेलाइट के ऑप्शन पर क्लिक करना है फिर लेबल्स पर क्लिक करना है इससे आपके आस-पास का एरिया ओपन हो जायेगा फिर आपको कर्सर को जूम करके वहाँ पर ले जाना है जहाँ पर आप टावर लगवाना चाहते हैं तो वहां का जो भी एड्रेस है वो ऑटोमेटिक वहां पर आ जायेगा ये प्रोसेस आपको अच्छे से करना है क्युकी इसमें जितनी भी लोकेशन्स जाती है

उन्हें मैनुअली नही पढ़ा जाता है बल्कि इन लोकेशन्स के सॉफ्टवेयर उन्हें आटोमेटिक शो करते है कि कहाँ-कहाँ के लिए फॉर्म आये हैं लोकेशन भरने का यही फायदा है इसीलिए इन्होंने मैप दिया है नही तो ये डायरेक्ट लोकेशन भी मांग सकते थे लोकेशन चेक करने के बाद जैसे ही क्लिक करेंगे तो वहां पर आपका मोबाइल नंबर माँगा जाता है उस पर एक ओ टी पी आएगा

आप जैसे ही ओ टी पी डालेंगे नेक्स्ट पेज ओपन हो जायेगा वहाँ पर आपसे पूछा जाता है कि प्रॉपर्टी आपकी अपनी या किसी दूसरे की, वहां पर आपको ऑप्शन सेलेक्ट कर देना है और जो एड्रेस माँगा गया है वो भी आपको भर देना है उसके बाद आपसे लैंड का एरिया माँगा जायेगा तो उसमे मैंने आपको जितनी रिक्वायरमेंट्स बताई है

उतना कम से कम आप जरुर डालियेगा नीचे पॉइंट में इसके यूजेज बता दीजिये कि आपकी प्रॉपर्टी किस तरह की है उसके बाद वहाँ पर जाने का रास्ता पूछा गया होगा तो आपको थ्रू गवर्नमेंट रोड लिखना है.

ये फॉर्म आपको एक बार भरना है अगर आप दोबारा फॉर्म भर रहे हैं तो सभी डिटेल्स आपको सेम नही भरनी हैं लोकेशन आपको वही सेलेक्ट करना है अगर आपके पास 2 से 3 लोकेशन है तो आपको वही लोकेशन सेलेक्ट करना है जिसके आस-पास जिओ का टावर न लगा हो

फिर उसके बाद जैसे ही आप फॉर्म सेंड करेंगे आपका एप्लीकेशन नंबर, फोन नंबर, एड्रेस(जिस पर आपने अप्लाई किया है) ये सभी चीजे आ जाएगी और उसके नीचे मेसेज आएगा कि हमारे जो इम्प्लोयस है जो पैसा नही लेते है.

टावर लगवाने से कितने पैसे मिलेंगे?

सिम्पली आपको 7000 से 50 हजार तक किराया मिल सकता है लेकिन अगर आपने टावर किसी बड़े शहर में अपनी जगह में लगवाया है तो यहाँ पर आपको महीने का किराया एक लाख तक भी मिल सकता है और अगर आप गरीब हैं और टावर पर नौकरी भी करना चाहते हैं

तो आपके घर का कोई एक व्यक्ति वहां पर नौकरी कर सकता है जिसके अलग से 10 से 12 हजार रूपये महीने के मिल जायेंगे.

आज आपने क्या सीखा

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा ये आर्टिकल (Jio tower kaise lagwaye) आपको काफी पसंद आया होगा इसमें हमने आपको जिओ टावर कैसे लगवाएं और इसकी रिक्वायरमेंट्स क्या है और आप इसमें कैसे अप्लाई कर सकते हैं इस बारे में पूरी जानकारी दी है

आपको हमारी ये जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो भी इस बारे में जानकारी चाहता है उसके साथ इस आर्टिकल को शेयर जरुर कीजिये.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *