हलाल सर्टिफिकेट क्या है? | What is Halal Certificate in Hindi

Halal Certificate kya hai

दोस्तों आप में से कुछ स्टूडेंट्स के पास हलाल सर्टिफिकेट होगा और उन्हें इसके बारे में थोड़ी बहुत जानकारी भी होगी लेकिन आप में से बहुत से लोग को हलाल सर्टिफिकेट के बारे में नही पता होगा कि हलाल सर्टिफिकेट क्या होता है आर इसके बारे में पूरी जानकारी, इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको हलाल सर्टिफिकेट से रिलेटेड पूरी इन्फॉर्मेशन देंगे.

Halal Certificate kya hai
Image Credit: Shutterstock

हलाल क्या होता है (What is Halal Certificate in Hindi)

हलाल एक अरबी शब्द है जिसका अर्थ होता है ‘जायज’. अगर बाजार की भाषा में समझा जाये तो हलाल का मतलब वह प्रोडक्ट होता है जो इस्लामी कानूनों के मुताबिक है मतलब कि जो प्रोडक्ट इस्लामी कानूनों के अंतर्गत उपयोग के योग्य होता है केवल वही हलाल है. खास तौर पर नॉनवेज आइटम की बात की जाये तो जो प्रोडक्ट ‘हलाल’ नियमों के तहत तैयार नहीं होता है उसका इस्तेमाल करना गैर-इस्लामिक माना जाता है.

हलाल सर्टिफिकेशन क्या होता है?

हमारे भारत में हलाल सर्टिफिकेशन के लिए पूरी दुकान खुली है तो ऐसे में हलाल इंडिया जैसे संगठन के बारे जिक्र करना बहुत जरूरी हो जाता है जो कंपनियों से सिर्फ ‘हलाल सर्टिफाइड’ स्टैंपिंग के लिए ज्यादा पैसे लेते हैं क्योंकि, बिना ‘हलाल सर्टिफाइड’ के इस बात को तबज्जो देने वाले मुसलमान वह प्रोडक्ट नही खरीदेंगे. हलाल सर्टिफिकेट होने से वे इस बात से निश्चिंत हो जाते है कि संबंधित प्रोडक्ट का उत्पादन इस्लामी कानूनों के अंतर्गत किया गया है और उसमें ऐसी किसी भी चीज की मिलावट नहीं है जो खाना इस्लाम में वर्जित हो.

इसे भी पढ़ें: ISO सर्टिफिकेट क्या है? 

हलाल सर्टिफिकेशन कई इस्लामी देशों में सरकार द्वारा जारी किया जाता है. भारत में भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण का सर्टिफिकेशन लगभग सभी खाद्य पदार्थों पर लगाया जाता है लेकिन यह प्राधिकरण भारत में हलाल सर्टिफिकेशन नहीं दिया जाता है. भारत में बहुत सारी कंपनियाँ हलाल सर्टिफिकेशन देती हैं जो इस्लाम के अनुयायियों के लिए खाद्य या उत्पादों के इस्तेमाल की अनुमति देता है.

भारत में महत्वपूर्ण हलाल सर्टिफिकेशन देने वाली कंपनियां हैं-

  • हलाल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड,
  • हलाल सर्टिफिकेशन सर्विसेज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड,
  • जमीयत उलमा-ए-महाराष्ट्र- जमीयत उलमा-ए-हिंद की एक राज्य इकाई,
  • जमीयत उलमा-ए-हिंद हलाल ट्रस्ट.

हलाल इंडिया कैसे काम करता है ?

हलाल सर्टिफाइड की मुहर लगाने के लिए हलाल इंडिया ने एक शरिया बोर्ड तक का गठन किया है जो पता करता है कि प्रोडक्ट शरिया कानूनों के हिसाब से बनाया गया है या नहीं, आज के समय में तो यह सर्टिफिकेट खाने के अलावा दवाई, कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट पर भी लगाया जाने लगा है. हलाल इंडिया इस बात का प्रचार-प्रसार करता है कि लोग ‘हलाल सर्टिफाइड’ देखकर ही दुकानों से सामान खरीदें और इसी के साथ हलाल इंडिया अंतरराष्ट्रीय हलाल मानकों के पालन का भी दावा करता है.

फार्मास्यूटिकल्स और सौंदर्य प्रसाधन हलाल सर्टिफिकेशन क्यों कराती हैं?

फार्मास्यूटिकल्स आर सौंदर्य प्रसाधन हलाल सर्टिफिकेशन इसीलिए लेती हैं क्योंकि इसके द्वारा बनाए जाने वाले उत्पादों में पशुओं की चर्बी, शराब आदि का प्रयोग किया जाता है.

जैसे- सुअर की चर्बी लिपस्टिक और लिप बाम बनाने में इस्तेमाल की जाती है, शराब को पर्फ्यूम बनाने में इस्तेमाल किया जाता है, कॉस्मेटिक में सूअरों, मुर्गियों, बकरियों, आदि के उत्पाद में किया जाता है. फार्मास्यूटिकल्स आर सौंदर्य प्रसाधन जो हलाल सर्टिफाइड होते हैं उनमें कोई भी हराम उत्पाद का इस्तेमाल नहीं किया जाता है.

कंपनियां अपने उत्पादों का हलाल सर्टिफिकेशन क्यों कराती हैं?

कंपनियां अपने उत्पादों का हलाल सर्टिफिकेशन इसलिए करवाती हैं जिससे उनके द्वारा बनाये गये उत्पादों को इस्लामिक देशों में निर्यात किया जा सके. इस्लाम के अनुयायियों की आबादी पूरी दुनिया में 1.8 बिलियन है, इसके अलावा, कई इस्लामिक देशों में केवल हलाल सर्टिफाइड खाद्य पदार्थों की ही अनुमति है

कई रिपोर्टों के अनुसार ऐसा देखा गया है कि हलाल खाद्य बाजार वैश्विक खाद्य बाजार का लगभग 19% है इस तरह तो बड़े बाजारों की सेवा के लिए डिमांड और सप्लाई को ध्यान में रखते हुए, कई कंपनियां अपने उत्पादों का हलाल सर्टिफिकेशन करवा रही हैं.

हलाल सर्टिफिकेशन का लोग विरोध क्यों कर रहे हैं?

  • हलाल सर्टिफिकेशन प्राप्त करने के लिए प्रोडक्ट बनाने के प्रोसेस में कई संशोधनों की जरूरत होती है.
  • हलाल सर्टिफिकेशन के बाद उत्पादों की कीमत बढ़ जाती है क्योंकि इसकी पूरी प्रक्रिया में समय और पैसे लगते हैं जो कंपनिया द्वारा ग्राहकों से वसूली जाती हैं.
  • हलाल सर्टिफिकेशन एक तरह का गैर-मुसलमानों के प्रति विशेष रूप से हलाल मांस उद्योग में एक भेदभावपूर्ण प्रक्रिया है.
  • हलाल सर्टिफिकेशन के लिए कुछ प्रोसेसेस में गैर-मुस्लिमों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध नहीं हैं. जैसे कि हलाल स्लॉटरहाउस आदि.
  • आज तक एक देश के हलाल सर्टिफाइड उत्पादों को दूसरे देश में मान्यता नहीं दी जा सकती है. जैसे- संयुक्त अरब अमीरात में भारत का हलाल सर्टिफिकेशन मान्य नहीं होता है.

इसे भी पढ़ें?

तहसीलदार कैसे बनें?

NCC में फिजिकल टेस्ट कैसे होता है? 

SDM kaise bane 

पुलिस विभाग में कितने पद होते हैं? 

गरुड़ कमांडो कैसे बने? 

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों हम उम्मीद करते है कि हमारा ये (Halal Certificate kya hai) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए काफी हेल्पफुल भी होगा क्युकी इसमें हमने आपको हलाल सर्टिफिकेट के बारे में पूरी जानकारी दी है

हमारी ये (Halal Certificate kya hai) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.