GMAT एग्जाम क्या होता है? | GMAT का एग्जाम प्रोसेस क्या होता है?

GMAT exam kya hota hai

GMAT एग्जाम का पूरा नाम ग्रेजुएट मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट होता है जो स्टूडेंट्स एमबीए मे एडमिशन लेना चाहते हैं वो इस एग्जाम को देते हैं आप में से बहुत से स्टूडेंट्स ने इस एग्जाम को पास किया होगा और बहुत सारे स्टूडेंट्स इस एग्ज़ाम को देना चाहते होंगे लेकिन उन्हें पूरा इसका प्रोसेस नहीं पता है कि इस एग्जाम के लिए उन्हें क्या करना होगा तो ऐसे स्टूडेंट हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें, क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम आपको GMAT एग्जाम से रिलेटेड पूरी जानकारी देने वाले हैं.

GMAT एग्जाम क्या होता है (What is GMAT exam in Hindi)

GMAT एग्जाम का पूरा नाम Graduate Management Admission Test होता है यह एग्जाम ग्रेजुएट मैनेजमेंट एडमिशन काउन्सिल के द्वारा कंडक्ट कराया जाता है आप इसकी वेबसाइट mba.com पर जाकर भी इसके बारे मे जानकारी ले सकते हैं इस एग्जाम को बेसिकली एमबीए (मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन) मे एडमिशन लेने के लिए देना होता है इसीलिये इस एग्जाम की फीस भी ज्यादा होती है और आगे करने वाले कोर्सेस की फीस भी ज्यादा होती है.

GMAT exam kya hota hai
Image Credit: Shutterstock

इंडिया मे बहुत सारी ऐसी यूनिवर्सिटीज़ है जो GMAT एग्जाम के मार्क्स को मानती है लेकिन ज्यादातर वहीं यूनिवर्सिटीज़ है जो GMAT के इस एग्जाम को मानती है जिनमें MBA कोर्स की ड्यूरेशन 1 साल की होती है. GMAT का एग्जाम आल ओवर वर्ड मे मान्य है तो अगर आपने GMAT एग्जाम दिया है और विदेश से भी एमबीए कोर्स करना चाहते है तो आप इस एग्जाम के मार्क्स के बेस पर एडमिशन ले सकते हैं. एमबीए मे एडमिशन लेने के लिए आप CAT का एग्जाम भी दे सकते है लेकिन यह सिर्फ इंडिया मे ही मान्य है इस एग्जाम को देने के बाद आप इंडिया के किसी कॉलेज मे एमबीए कोर्स मे एडमिशन ले सकते है लेकिन फॉरेन countries मे एमबीए कोर्स मे  एडमिशन नहीं ले सकते हैं.

यह एग्जाम साल मे 5 बार कंडक्ट किया जाता है आप जितनी बार चाहे इस एग्जाम को दे सकते हैं इस एग्जाम का सर्टिफिकेट 5 साल तक मान्य होता है.

GMAT एग्जाम देने के लिए एलिजिबिलिटी क्या रखी गई है?

GMAT एग्जाम को देने के लिए कैंडिडेट की आयु मिनिमम 18 साल होनी चाहिए, लेकिन अगर आपकी आयु 13 से 17 साल के बीच मे है और आप इस एग्जाम को देना चाहते है तो इसके लिए आपके पेरेंट्स की परमीशन लेनी होती है.

GMAT एग्जाम के लिए पता कैसे करें?

GMAT एग्जाम के बारे मे जानकारी लेने के लिए आप mba.com की वेबसाइट पर जा सकते है और इसके बारे मे पूरी जानकारी ले सकते हैं.

GMAT का एग्जाम प्रोसेस क्या होता है?

GMAT एग्जाम में चार सेक्शन होते हैं

एनालिटिकल राइटिंग असेसमेंट

इसमें आपको किसी एक टॉपिक पर Essay लिखना होता है जिसमे आपको 30 मिनट का समय दिया जाता है.

इंटिग्रेटेड रीज़निंग

इसमें आपको 30 मिनट का समय दिया जाता है और इसमें आपको 12 क्वेश्चन्स लिखने होते है.

क्वांटिटेटिव डिज़ाइनिंग

इसमें आपको 62 मिनट का समय दिया जाता है जिसमे आपको 31 क्वेश्चन हल करने होते है.

वर्बल रीज़निंग

इसमें आपको कुल 36 Question करने होते है जिसमे आपको 65 मिनट का समय दिया जाता है.

इसे भी पढ़े?

CMAT एग्जाम क्या होता है

UPSC exam क्या है 

CTET एग्जाम क्या है

ICAR एग्जाम क्या है

REET एग्जाम क्या होता है

आज आपने क्या सीखा?

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा ये (GMAT exam kya hota hai) आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आपके लिए काफी यूज़फुल भी होगा क्योंकि इसमें हमने आपको GMAT एग्जाम से रिलेटेड पूरी जानकारी दी है

हमारी ये (GMAT exam kya hota hai) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताइयेगा और जो स्टूडेंट्स GMAT एग्जाम देना चाहते हैं या इसके बारे में जानकारी चाहते हैं उनके साथ भी जरूर शेयर कीजिएगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.