Finance क्या है? | फाइनेंस कंपनी में क्या काम होता है?

finance kya hota hai

अगर आप किसी भी फील्ड में जाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको उसके बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है तभी आप उसमे अच्छा प्रॉफिट ले पाएंगे. आज के समय में इंडिया में शुरू की जाने वाली सभी कम्पनीज काफी ग्रोथ कर रही है तो अगर आप फाइनेंस के बारे में जानना चाहते है तो आज इस आर्टिकल में हम आपको फाइनेंस से रिलेटेड पूरी इनफार्मेशन देंगे.

Finance क्या है? (What is finance in hindi)

किसी भी व्यक्ति, बिज़नेस या सरकार को काम करने के लिए फाइनेंस जरूरी है फाइनेंस एक प्रकार का फ्रेंच शब्द है जिसे वित्त कहा जाता है किसी भी कार्य, उत्पादन या कंपनी को चलाने के लिए पैसों के मैनेजमेंट को फाइनेंस कहते हैं.

finance kya hota hai

किसी भी कम्पनी को सुचारू रूप से चलाने के लिए स्टार्टअप लगाना जरूरी होता है अगर आप कंपनी के लिए कोई कर्मचारी रख रहे हैं तो उसे भी तनख्वाह देना होता है ये सभी काम पैसों के इन्वेस्टमेंट से ही किया जा सकता है.

जैसे– अगर किसी व्यक्ति को कोई कार्य करना है, मैन्युफैक्चरिंग करनी है या फिर बिज़नेस को शुरू करना है तो इसके लिए व्यक्ति को पैसों की जरूरत होती है, तो पैसों को इन्वेस्ट करना और सही से यूज करना ही फाइनेंस कहलाता है.

Finance कितने तरह का होता है?

पर्सनल फाइनेंस

पर्सनल फाइनेंस को व्यक्तिगत वित्त भी कहा जाता है इसमें व्यक्ति अपने निजी जरूरतों के हिसाब से अपने पैसों को अपने हिसाब से यूज करता है और हर व्यक्ति का पैसा इन्वेस्ट करने का अलग-अलग तरीका होता है इसी अलग-अलग तरीके से पैसे को इन्वेस्ट करना या मैनेज करना ही पर्सनल फाइनेंस कहलाता है

कॉर्पोरेट फाइनेंस

इसे निगम वित्त कहा जाता है इसमें कोई कंपनी या ऑर्गनाइजेशन अपने पैसों को अपने तरीके से मैनेज करता है तो ये कॉर्पोरेट फाइनेंस कहलाता है, किसी कंपनी/आर्गेनाइजेशन सबसे पहले फाइनेंसियल प्लानिंग बनाती है उसके बाद पैसे अर्रेंज करती है और पैसों को सही तरीके से यूज करके सर्विसेज बनाती है इसे ही कॉपोर्रेट फाइनेंस कहते हैं.

पब्लिक फाइनेंस

पब्लिक फाइनेंस को लोक वित्त कहते है गवर्नमेंट को अपना शासन चलाने के लिए या विकाशील कार्य करने के लिए उसे भी फंडिंग/इन्वेस्ट की जरूरत होती है तो इसीलिए सरकार द्वारा टैक्स लिया जाता है उसके बाद पब्लिक द्वारा प्राप्त रेवेन्यू के हिसाब से बजट को तैयार किया जाता है और उसी बजट से पब्लिक एक्स्पेंडिचर करती है इसे ही पब्लिक फाइनेंस कहते हैं.

Finance कंपनी का काम क्या है?

फाइनेंस में तीनों फाइनेंस का काम एक जैसा है जैसे– फण्ड की व्यवस्था करना, अच्छे से इन्वेस्ट करना, कम ब्याज पर लोन प्राप्त करना और बैंकिंग आदि, लेकिन तीनों फाइनेंस में इसका काम अलग-अलग होता है. किसी कंपनी या आर्गेनाइजेशन का अपनी कंपनी के लिए इन्वेस्ट करना या किसी व्यक्ति के लिए इन्वेस्ट करना या फिर गवर्नमेंट के लिए इसका यूज करने का काम फाइनेंस कंपनी का होता है.

Finance के फायदे क्या है?

  1. फाइनेंस कंपनी में इन्वेस्ट करके आप अच्छा प्रॉफिट ले सकते हैं.
  2. इसमें आप कई तरह से इन्वेस्ट कर सकते हैं जैसे- पर्सनल फाइनेंस, कॉर्पोरेट फाइनेंस और पब्लिक फाइनेंस आदि.

फाइनेंस मैनेजर कैसे बनें 

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (finance kya hota hai) आर्टिकल आपको पसंद आया होगा इसमें हमने आपको फाइनेंस के बारे में पूरी जानकारी दी है जैसे- फाइनेंस क्या है? फाइनेंस कितने तरह का होता है? और फाइनेंस कंपनी का काम क्या है? फाइनेंस के फायदे क्या है?आदि,

हमारी ये (finance kya hai in hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर भी जरुर कीजियेगा.

Spread the love

2 thoughts on “Finance क्या है? | फाइनेंस कंपनी में क्या काम होता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.