Dyslexia क्या है? | What is Dyslexia in hindi

Dyslexia kya hai

Dyslexia kya hai- आप में से बहुत लोगों में डिस्लेक्सिया के बारे में पता होगा लेकिन कुछ लोगों को इसके बारे में नही पता होगा कि ये क्या होता है इसके लक्षण क्या होते है इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको डिस्लेक्सिया से रिलेटेड पूरी जानकारी देंगे.

डिस्लेक्सिया क्या है? (What is Dyslexia in hindi)

Dyslexia kya hai
Image Credit: Shutterstock

डिस्लेक्सिया शब्द ग्रीक भाषा के 2 शब्दों दस और लेक्सिस से मिलकर बना है इसका अर्थ होता है डिफिकल्ट स्पीच. डिस्लेक्सिया की खोज 1887 ई. में जर्मनी के नेत्र रोग विशेषज्ञ रूडोल्फबर्लिन द्वारा की गयी थी. डिस्लेक्सिया से पीड़ित बच्चे पढ़ने से डरते हैं मतलब कि डिस्लेक्सिया एक तरह का लर्निंग डिसआर्डर होता है.

डिस्लेक्सिया के लक्षण क्या है?

इसके कई सारे लक्षण है-

  1. वर्णमाला अधिगम में कठिनाई होती है.
  2. अक्षरों की ध्वनियों को सीखने में कठिनाई दिक्कत आती है.
  3. एकाग्रता में दिक्कत होती है.
  4. पढ़ते समय स्वर वर्णों का लोप होना भी डिस्लेक्सिया का लक्षण है.
  5. इससे पीड़ित बच्चों को दृष्टि व स्मृति से सम्बंधित कठिनाई होती है.
  6. इससे पीड़ित व्यक्ति शब्दों को उल्टा या अक्षरों को इधर-उधर करके पढ़ते हैं.
  7. समान उच्चारण वाली ध्वनियों को न पहचान पाने में भी दिक्कत होती है.
  8. शब्दकोश का अभाव
  9. भाषा का अर्थपूर्ण प्रयोग का अभाव
  10. याद कम रहता है.
  11. डिस्लेक्सिया से पीड़ित बालक पढ़ते समय किसी शब्द या पंक्ति को छोड़ देता है.

डिस्लेक्सिया किस कारण से होता है?

डिस्लेक्सिया तंत्रिका तंत्र से जुड़ी आनुवंशिक बीमारी या न्यूरोलॉजिकल डिसआर्डर है. बच्चों में इसके लक्षण तब पता चलते हैं जब वो स्कूल जाना शुरू करते हैं क्युकी जब वो नई चीजें सीखने की कोशिश करते है तब उन्हें दिक्कत होती है. इन बच्चों का आईक्यू या बैद्धिक क्षमता औसत या औसत से ज्यादा भी हो सकती है.

डिस्लेक्सिया कोई मानसिक रोग नही है, ऐसे बहुत से बच्चे मॉर्डर्न गैजट का बड़ी कुशलता से इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे पीड़ित बच्चे पेंटिंग, म्यूजिक जैसी चीजों में काफी आगे जा सकते हैं.

डिस्लेक्सिया रोग का उपचार क्या है?

अगर सही समय पर पता चल जाये तो बच्चे को वो काम करने के लिए प्रोत्साहित करे जो करने में वो निपुण है जैसे-पेंटिंग, म्यूजिक, गेम्स जैसे एक्टिविटी. ऐसे बच्चे सामान्य जीवन बिताते हैं ऐसे बहुत से बच्चे है जो डिस्लेक्सिया होने के बाद भी अच्छे से जॉब कर रहे हैं.

पारिवारिक इतिहास का अध्ययन किया जाये तथा भाषा वर्तनी उच्चारण, बौद्धिक योग्यता, स्मृति सम्बन्धी परीक्षण तथा व्यवहार का शूक्ष्म निरिक्षण किया जाये तो इस बीमारी का उपचार/इलाज किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें?

जॉब इंटरव्यू कैसे दें? | इंटरव्यू में ज्यादातर सवाल कौन-कौन पूछे जाते हैं?

NDA क्या है? | NDA के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?

क्रिकेटर कैसे बनें? | क्रिकेट में करियर कैसे बनाएं

Goods sportsperson कैसे बनें? | Good sportsperson कौन है

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (Dyslexia kya hai) आर्टिकल आपको बहुत पसंद आया होगा और आपके लिए काफी हेल्पफुल भी होगा इसमें हमने आपको डिस्लेक्सिया से रिलेटेड सभी जानकारी दी है जैसे- डिस्लेक्सिया क्या है? डिस्लेक्सिया के लक्षण क्या है? डिस्लेक्सिया किस कारण से होता है? और डिस्लेक्सिया रोग का उपचार क्या है? आदि.

हमारी ये (Dyslexia kya hai) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ भी कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.