DNA Kya Hota hai in Hindi | What is DNA

DNA Kya Hota hai in Hindi

DNA Kya Hota hai in Hindi

DNA Kya Hota hai in Hindi

आपने DNA का नाम तो सुना ही होगा और उससे भी ज्यादा आपको DNA test के बारे में तो पता ही होगा क्युकी अक्सर फिल्मों और serials में इसका जिग्र हो ही जाता है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि DNA होता क्या है कहाँ पाया जाता है.

और ये इतना important क्यों होता है तो इन सभी सवालों के जवाब आज हम आपको इस article में देने वाले हैं
तो चलिये शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि DNA क्या है? और ये कहाँ मिलता है? ये तो आप जानते ही हैं कि हमारा शरीर सेल (कोशिकाओ) से मिलकर बना होता है.

और हमारे शरीर की लगभग हर कोशिका में डीएनए यानि कि जेनेटिक कोड पाया जाता है सिर्फ RBC (Red Blood Cells) में DNA नही होता है ये DNA ही हमें हमारी पहचान देता है. ये DNA इतना important इसीलिए होता है.

क्युकी इसमें हमारे development, हमारी growth, reproduction और कार्य के लिए निर्देश होते है अधिकांश DNA न्यूक्लियस में पाए जाते हैं जिसे न्यूक्लियर DNA कहा जाता है और डीएनए का एक small portion mitochondria में भी पाया जाता है जिसे mitochondrial DNA कहते हैं.

DNA की full form Deoxyribonucleic Acid होती है और ये जैविक अम्ल नाइट्रोजन चारो से मिलकर बनता है इंसानों में पाए जाने वाले DNA में लगभग 3 billian बेसिस पाए जाते हैं और डीएनए का लगभग 99% हर इंसान में similar होता है डीएनए एक लम्बी जंजीर जैसा दिखने वाला अणु होता है.

जो जीव के अनुवांशिक विशेषताओं को एनकोड करता है वैसे हैरानी की बात ये है कि अगर हमारे शरीर में मौजूद सारे डीएनए को सुलझाया जाय तो ये इतने लम्बे होंगे कि सूरज तक पहुँच कर तीन सौ गुना बार वापिस earth पर आ सकेंगे. जीन हेरीडेटरी material होता है जो cell nucleic में पाया जाता है.

 

और ये जीन्स डीएनए के बने होते हैं डीएनए एक घुमावदार, सीड़ीनुमा, आकृति बनाता है और इसे double helix कहा जाता है न्यूक्लियो टाइड्स का double stranded पालीमर डीएनए होता है लेकिन सिंगल stranded डीएनए भी पाए जाते हैं हर न्युक्लियोटाइड में ये पाए जाते है Phosphate अणु एक सुगर molecule जिसे Deoxyribose कहा जाता है.

नाइट्रोजन युक्त सार यानि bases इसमें 4 bases पाए जाते हैं Adenine(A), Cytosine(C), Guanin(G) और Thiamine(T). इन चारों bases का क्रम ही अनुवांशिक का कोड बनता है जो जीवन के सभी जरूरी कामों को करने के लिए हमे निर्देश देते हैं इन bases के क्रम को DNA Sequence कहा जाता है.

इन bases में से  adenine thymine के साथ और guanin cytosine के साथ bond बनाता हैं bond के साथ ये bases एक फॉस्फेट और एक pentose सुगर के साथ भी बंधा होता है इसीलिए नाइट्रोजन base फॉस्फेट और pentose सुगर से बने डीएनए को न्यूक्लियोटाइड कहा जाता है डीएनए अपने structure की same कॉपी बना सकता है.

और ये प्रक्रिया सेल division के लिए जरूरी भी होती है अक्सर डीएनए से बना हुआ नया डीएनए 100% उसके समान ही होता है लेकिन कभी कभी जब ये नया बना डीएनए पूरी तरह समान नही हो पाता है तो body में harmful म्यूटेशन्स भी पैदा कर सकता है आप डीएनए को एक Pendrive भी कह सकते है.

क्युकी डीएनए हमारे शरीर की सारी जानकारी अपने अंदर store करके रखता है और 1 ग्राम DNA 700 terabytes की जानकारी स्टोर कर सकता है तो सोचिये कि दुनिया भर की information को आप store करना चाहे तो सिर्फ दो ग्राम डीएनए की जरूरत पड़ेगी.

वैसे DNA क्या होता है कहाँ पाया जाता है ये जानने के बाद अब सवाल ये है कि DNA की खोज किसने की, तो DNA को सबसे पहले जर्मन biochemist Friedrich Miescher ने 1869 में observe किया लेकिन बहुत सालों तक इस molecule की importance researchers का ध्यान अपनी तरफ खींच नही पाई, लेकिन जब 1953 में James Watson, Francis Crick, Maurice Wilkins और Rosalind Franklin ने डीएनए का double helix structure खोज निकाला तब ये समझा जाने लगा कि ये डीएनए बायोलॉजिकल information को carry कर सकता है.

इसके लिए Watson, Crick और Wilkins को 1962 में Medicine का नोबल प्राइज भी मिला. DNA के मॉडल को Watson-Crick मॉडल के नाम से भी जाना जाता है. आब बात करते है डीएनए के important works की, डीएनए replication, transcription और जेनेटिक इनफार्मेशन को transfer करने के important काम करता है.

Replication डीएनए के नकल करने की प्रक्रिया है जिसमे डीएनए अपनी नकल करके अपने जैसा दूसरा डीएनए बना लेता है ऐसा होने से शरीर में क्रोमोसोम्स की संख्या नियंत्रित रहती है और सेल division भी प्रेरित होता है transcription के जरिये डीएनए हमारे शरीर में मौजूद RNA का निर्माण करता है जेनेटिक इनफार्मेशन को एक पीड़ी से दूसरी पीड़ी में transfer करना भी डीएनए का बहुत ही important काम होता है.

आइये अब डीएनए test के बारे में जानते है जिसके बारे में आपने काफी सुना है हर इंसान के डीएनए में उसके heritage की जानकारी होती है और डीएनए test या जेनेटिक test किसी जेनेटिक डिसऑर्डर का पता लगाने, जेनेटिक म्युटेशन का पता लगाने के लिए किया जाता है.

बच्चे में mother और father दोनों के जीन्स होते है और डीएनए test के जरिये बच्चे के parents का पता लगाया जा सकता है डीएनए test की मदद से किसी भी criminal को पकड़ा जा सकता है डीएनए एक पीड़ी से दूसरी पीड़ी में transfer होता है और इस आधार पर डीएनए testing के जरिये ये पता लगाया जा सकता है.

कि आपके आने वाले generations के बालों का रंग, आँखों का रंग कैसा होगा और साथ ही अगली पीड़ियों में कौन कौन सी बीमारियाँ हो सकती हैं इसका पता भी लगाया जाता है डीएनए test की मदद से new born babise में जेनेटिक डिसऑर्डर का पता लगाया जा सकता है.

ताकि समय रहते ही उसका इलाज किया जा सके इसके अलावा बच्चे के जन्म से पहले भी यानि कि प्रेगनेंसी के दौरान भी जेनेटिक डिसऑर्डर का पता लगाया जा सकता है और आजकल तो कुछ ऐसे नये test भी हो रहे है डीएनए के जिसमें ये भी पता लगाया जा सकता है कि आपके पूर्वज दुनिया के जिस कोने से आये थे मतलब origin कहाँ से हुआ था.

ऐसे बहुत सारी जानकारियां और बहुत सारे research आये दिन डीएनए से जुड़ी हुई आती रहती है और अभी भी इस field में काफी सारा काम किया जा रहा है और किया जायेगा, क्योकि ये बहुत ही जटिल विषय है.इसी के साथ दोस्तों अब आप DNA के बारे में important information ले चुकें है.

हमे उम्मीद है कि ये information आपको DNA Kya Hota hai in Hindi, interesting और useful जरुर लगी होगी वैसे comment बॉक्स में लिखकर जरुर share कीजियेगा कि ये जानकारी आपको कैसी लगी और साथ ही साथ अगर डीएनए के बारे में कोई जानना चाहता है तो प्लीज उनके साथ इस article को जरुर share करें.

यदि आपको यह  DNA Kya Hota hai in Hindi पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

I hope guys like this DNA Kya Hota hai in Hindi.

How to Become a Movie Director

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *