Digital Library क्या है | What is Digital Library in Hindi

Digital Library kya hai

Digital Library kya hai in hindi- आप में से बहुत से लोगों ने डिजिटल लाइब्ररी के बारे में सुना होगा लेकिन अगर आप इसके बारे में ज्यादा जानकारी चाहते है जैसे कि लाइब्ररी क्या होती है, लाइब्ररी कितने प्रकार की होती है, डिजिटल लाइब्रेरी क्या होती है और इसके फायदे और नुकसान क्या है तो आज इस आर्टिकल में हम आपको डिजिटल लाइब्रेरी के बारे में पूरी जानकारी देंगे.

लाइब्ररी क्या है? (What is Library in hindi)

Digital Library kya hai
Image Credit: Shutterstock

लाइब्ररी उस स्थान को कहते है जहाँ पर डाटा स्टोर करके रखा जाता है. जैसे- अगर आप किसी मुख्य डाटा को अपने सिस्टम में एक जगह पर स्टोर करके रखते हैं उसे लाइब्ररी कहा जाता है. इंडिया के नेशनल लाइब्ररी की स्थापना 1948 में हुई थी. नेशनल लाइब्ररी देश का सबसे बड़ी लाइब्ररी है. इसमें देश के सभी दुर्लभ साहित्यों व प्रलेखों को सुरक्षित रखा जाता है. इंडिया की नेशनल लाइब्ररी कोलकाता में है.

लाइब्ररी कितने तरह की होती है? (How many types of libraries)

लाइब्ररी 7 तरह की होती है-

  1. एकाडेमिक लाइब्ररी
  2. पब्लिक लाइब्ररी
  3. स्पेशल लाइब्ररी
  4. डिजिटल लाइब्ररी
  5. नेशनल लाइब्ररी
  6. वर्चुअल लाइब्ररी
  7. हाइब्रिड लाइब्ररी

डिजिटल लाइब्ररी क्या है? (What is Digital Library in hindi)

डिजिटल लाइब्ररी एक ऐसी लाइब्ररी होती है जिसमे डिजिटल और इलेक्ट्रोनिक प्रारूप में डाटा को स्टोर किया जाता है और कंप्यूटर या किसी इलेक्ट्रोनिक उपकरण के द्वारा इस डाटा को एक्सेस किया जा सकता है. डिजिटल लाइब्ररी में लोगों के विभिन्न प्रकार की सोशल और ऑर्गनाइजेशनल यूजफुल इनफार्मेशन और नॉलेज को मल्टीमीडिया डाटा में सूचना प्रबंधन के तरीकों का उपयोग करके रखा जाता है.

डिजिटल लाइब्ररी को राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्ररी (एन डी एल) भी कहा जाता है. इसे केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश आंबेडकर ने 19 जून 2018 को शुरू किया था. इसे आइआइटी खडकपुर द्वारा डेवेलोप किया गया है. डिजिटल लाइब्ररी में डाटा डिजिटल स्वरूप (जैसे- प्रिंट, माइक्रोफॉर्म या किसी अन्य मीडिया के विपरीत) में स्टोर होता है. डिजिटल लाइब्ररी को सबसे पहले 1994 में एनएसएफ, डीएआरपीए, नासा डिजिटल लाइब्ररी इनिशिएटिव द्वारा यूज किया गया था.

डिजिटल लाइब्ररी के फायदे क्या है? (What are the advantages of digital library)

  1. एक ही रिसोर्स को एक ही समय में कई यूजर्स द्वारा किया जाता है.
  2. डिजिटल लाइब्ररी को किसी भी समय एक्सेस किया जा सकता है.
  3. इसका यूज करने के लिए यूजर को लाइब्ररी जाने की जरूरत नही होती है अगर आपके पास कंप्यूटर सिस्टम या कोई इलेक्ट्रोनिक उपकरण और इन्टरनेट है तो आप घर बैठे ही डिजिटल लाइब्ररी को एक्सेस कर सकते हैं.

डिजिटल लाइब्ररी के नुकसान क्या है? (What are the disadvantages of digital library)

  1. जितने ज्यादा कंप्यूटर सिस्टम डिजिटल लाइब्ररी का यूज करने के लिए इन्टरनेट से जुड़ते है. वैसे-वैसे इसकी पहुँचने की गति स्लो हो जाती है. अगर इस समस्या को हल करने के लिए कोई नई टेक्नोलॉजी विकसित नही हुई तो आने वाले समय में इसमें काफी दिक्कत होगी.
  2. इसमें किसी की लाइब्ररी को बिना उसकी अनुमति के कॉपीराइट करना भी कानूनी अपराध है. इसमें कोई भी व्यक्ति किसी की लाइब्ररी के डाटा को कॉपी कर सकता है.

इसे भी पढ़ें?

Technology कैसे बदल रही है? | तकनीक कैसे बदलती है?

दुनिया का सबसे महंगा लैपटॉप कौन सा है?

एयरप्लेन में थर्मामीटर ले जाने से क्या होगा?

भारत में हेलीकॉप्टर कैसे खरीदें? | हेलीकॉप्टर कैसे खरीदें?

अगर प्लेन उड़ाते समय पायलेट सो जाये तो क्या होगा?

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों, हम उम्मीद करते है कि हमारा ये (Digital Library kya hai in hindi) आर्टिकल आपके लिए बहुत ही इंटरेस्टिंग और यूजफुल होगा. इसमें हमने आपको डिजिटल लाइब्ररी के बारे में पूरी जानकारी दी है जैसे- लाइब्ररी क्या है? लाइब्ररी कितने तरह की होती है? डिजिटल लाइब्ररी क्या है? डिजिटल लाइब्ररी के फायदे क्या है? और डिजिटल लाइब्ररी  के नुकसान क्या है? आदि.

हमारी ये (Digital Library kya hai in hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो लोग इसके बारे में जानकारी चाहते हैं उनके साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.