डाटा एंट्री का बिजनेस कैसे शुरू करें? | डाटा एंट्री बिजनेस का स्कोप क्या है?

data entry business kaise shuru kare hindi

आप में से बहुत से कैंडिडेट अपना खुद का बिज़नस शुरू करना चाहते है कुछ लोग मार्केटिंग का बिज़नस करना चाहते होंगे तो कुछ लोग कोई दूसरा अपना खुद का बिज़नस शुरू करना चाहते होंगे, तो आप में से बहुत से कैंडिडेट ऐसे होंगे जो डाटा एंट्री का बिज़नस करना चाहते होंगे, लेकिन उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी नही होगी इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने से रिलेटेड पूरी इन्फॉर्मेशन देंगे.

डाटा एंट्री क्या होता है? (What is Data enrty in Hindi)

data entry business kaise shuru kare hindi

डाटा एंट्री का काम कंप्यूटर पर किया जाता है जब कोई व्यक्ति किसी डाटा को रजिस्टर, फर्म्स, या किसी दुसरे डॉक्यूमेंट से डाटा को कंप्यूटर के कीबोर्ड की मदद से कंप्यूटर पर इंटर करता है तो उसे डाटा एंट्री कहते हैं. आज के टाइम में पूरे डाटा को कंप्यूटर पर ही सेव करके रखा जाता है जिसे डाटा एंट्री का काम कहा जाता है, पहले के समय में किसी भी बिज़नस के डाटा को अलग-अलग स्टोर करने के लिए अलग-अलग फाइल्स बनाई जाती थी आप डाटा एंट्री का काम घर से भी कर सकते है.

डाटा एंट्री का बिज़नस कैसे शुरू किया जाता है?

जब आप कई सारी कंपनीज से डाटा एंट्री का काम लेकर अपनी खुद की कम्पनी खोलकर डाटा एंट्री का काम करते है तो उसे डाटा एंट्री का बिज़नस कहा जाता है. डाटा एंट्री का काम आप दो तरह से कर सकते हैं पहला आप अपने ऑनलाइन वेबसाइट के लिए अपने पर्सन पे और दूसरा अपनी खुद की कंपनी खोलकर. अगर आप डाटा एंट्री ऑनलाइन किसी कंपनी के लिए करते है जैसे- फ्रीलांसर, या ई-लांस की वेबसाइट के लिए डाटा एंट्री करते है तो आपको खुद को उस कंपनी के साथ डाटा एंट्री के रूप में रजिस्टर करवाना होगा लेकिन अगर आप ऑफलाइन यह वेबसाइट शुरू करते है या आप छोटी-छोटी कंपनियों से डाटा एंट्री का आर्डर लेते है और फिर कॉर्पोरेट अपने कस्टमर्स के साथ काम करते हैं तो आपको पहले कंपनी रजिस्टर करनी होगी.

कम्पनी का एक नाम होगा उस नाम से आपको बैंक में एक करंट अकाउंट भी ओपन करवाना होगा क्युकी उस खाते में डाटा एंट्री से आने वाला जो भी अमाउंट होगा वह जमा किया जायेगा. लेकिन इसके लिए यह जरूरी है कि आप अपने इस बिज़नस को कंपनी के रजिस्ट्रार में रजिस्टर करके इनफार्मेशन प्रमाणपत्र भी प्राप्त कर लें.

डाटा एंट्री बिज़नस शुरू करने के लिए अगर आपके पास लैपटॉप या कंप्यूटर और इन्टरनेट की सुविधा है तो आपको किसी और चीज़ में इन्वेस्टमेंट नही करना पड़ता है. धीरे-धीरे जब आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप से काम स्टार्ट करेंगे तो उसके बाद जब आप कंपनीज से आर्डर लेते जायेंगे तो आपका बिज़नस बढेगा तो आपको अपना एक ऑफिस सेटअप करने की जरूरत होगी.

वेस्टन कंट्रीज में बहुत सारी ऐसी कंपनीज है जो डाटा एंट्री का काम दुसरे देश के लोगो से करवाती है जैसे- इंडिया, क्युकी यहाँ के लोगो से डाटा एंट्री का काम करवाने से उनका खर्च कम आता है अगर वो अपने ही देश के लोगो से ये काम करवायेंगे तो इससे उनका कुछ मिनिमम वेजेज होता है जो उनको देना होता है इसीलिए वो दूसरे देश से डाटा एंट्री का काम करवाती है.

डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए क्या-क्या होना जरूरी होता है?

डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए आपको इन चीजों की जरूरत होती है-

  1. डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप होना जरूरी होता है जिसके द्वारा आप डाटा एंट्री का काम करेंगे.
  2. डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए आपको कुछ डाटा बेस सॉफ्टवेयर की रिक्वायरमेंट होती है जैसे- माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस, माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल, इत्यादि. ये सॉफ्टवेयर बेसिकली कंप्यूटर सिस्टम में होते है लेकिन कभी-कभी ये आपको परचेस भी करने पड़ सकते हैं.
  3. अगर आप कुछ दुसरे तरह के डाटा एंट्री जैसे- एकाउंटिंग या बहीखाता प्रोजेक्ट का काम करना चाहते है तो आपको QuickBooks सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है.
  4. इसके अलावा अपने क्लाइंट को प्रोजेक्ट फाइल भेजने और रिसीव करने के लिए हाई स्पीड इन्टरनेट की जरूरत होती है.

डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए कैंडिडेट में कौन-सी स्किल्स होनी चाहिए?

डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए कैंडिडेट में इन कुछ स्किल्स का होना जरूरी है-

  1. कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज होनी चाहिए.
  2. आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी होनी चाहिए.
  3. डाटा एंट्री में यूज होने वाले सॉफ्टवेयर के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए जिससे आप डाटा एंट्री का काम अच्छे से कर पायें.
  4. डाटा एंट्री के काम के लिए आपको डाटा किसी भी फॉर्म में प्रोवाइड हो सकता है इसीलिए आपको सभी तरह के डाटा को पढने, समझने और एंट्री करने की स्किल होनी चाहिए.
  5. डाटा एंट्री का बिज़नस शुरू करने के लिए रिक्वायर्ड सर्टिफिकेट और लाइसेंस होना भी जरूरी है.

डाटा एंट्री बिज़नस का स्कोप क्या है?

आज इंडिया में डाटा एंट्री वर्क का स्कोप काफी ज्यादा है क्युकी पिछले कुछ सालो में आईटी फील्ड में काफी ज्यादा डेवलपमेंट हुआ है और हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने कुछ साल पहले डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट की शुरुआत भी की थी. जिसके अंतर्गत नागरिकों को सभी चीज़े डिजिटल फॉर्मेट में करने के लिए प्रेरित किया गया था जैसे- पैसो का लेन-देन, किसी योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना, इत्यादि. साथ ही इंडिया के जिन भी कार्यालयों में डाटा फाइल्स सेव है उसे डिजिटल फॉर्म में ट्रान्सफर करने के लिए डिजिटल इंडिया प्लेटफार्म की शुरुआत की थी सर्कार द्वारा इस प्लेटफार्म को शुरू करने के मुख्य उद्देश्य सभी डाटा को डिजिटल फॉर्म में करना और बेरोजगार लोगो को रोजगार उपलब्ध कराना था और इसके द्वारा अगर आप पर्सनली ये काम करते है तो आप आसानी से 15,000 से 20,000 रूपये के लगभग कमा सकते हैं. 

इसे भी पढ़ें?

फ्यूचर में सबसे ज्यादा कौन से बिज़नेस ग्रो करेंगे

टेक्सटाइल बिज़नेस कैसे शुरू करें

भारत की टॉप 5 टेक्सटाइल कंपनी और उनकी सम्पूर्ण जानकारी

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों, हम उम्मीद करते हैं कि हमारी ये (Data entry business kaise shuru kare Hindi) जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए काफी हेल्पफुल भी होगी क्युकी इसमें हमने आपको डाटा एंट्री बिज़नस शुरू करने से रिलेटेड पूरी इन्फॉर्मेशन दी है

हमारी ये (Data entry business kaise shuru kare Hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो कैंडिडेट डाटा एंट्री बिज़नस शुरू करना चाहते है और इसके बारे में जानकारी चाहते है उनके साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.