कॉल सेंटर कैसे खोलें? | What is call center in Hindi

Call center kaise khole- कॉल सेण्टर ये वर्ड तो आपने सुना ही होगा  जैसे की अकाउंट या मोबाइल, बैंकिंग जैसी किसी भी जानकारी के लिए हम जो कॉल करते है वो कॉल सेण्टर ही होता है 
आपमें से कई सारे लोग ऐसे भी होंगे जो की अपनी पढाई के समय पॉकेट मनी के लिए कॉल सेण्टर में जॉब भी किये होंगे.

हर वो कंपनी जो अपने बिज़नस को बड़े लेवल तक ले जाना चाहती है उसे कॉल सेण्टर की जरूरत पड़ती है 
जैसे-

IT Sector
Tele Communication
Banking & Heavy Industries
Food Brands, Agriculture
Fashion Brands
Mobile Products
Etc.

अगर आप कॉल सेण्टर का Business शुरू करना चाहते है तो आपको क्या करना होगा किन चीजो का ध्यान रखना है और क्या अरेंज करना होता है ये सब जानने के लिए आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

कॉल सेंटर क्या है? (What is call center in Hindi)

call center kaise khole
Image Credit: Shutterstock

कॉल सेण्टर को Professional Language में BPO Full Form Business Process Outsourcing कहा जाता है 2018 में ही Indian BPO Sector $28 Billion का हो चुका था और इसकी ग्रोथ कभी नहीं रुकेगी क्युकी जैसे-जैसे बड़े-बड़े Brands अपने Business को दुनिया भर में फैलाते जायेंगे उसमे Customers को जानकारी देने के लिए अपनी सर्विस को लोगो तक पहुचाने के लिए

Service to Reach Peoples
Sell Products
To save life of Peoples
Provide Technical Support
Rescue operations
Tell About Company offers
Solve People’s Problems

के लिए भी कॉल सेण्टर की हेल्प ली जाती है अगर इंडिया में कॉल सेण्टर खोलने की बात आती है तो यंहा पर ये बिज़नस करना बहुत ही आसान है क्युकी यहाँ पर हर साल लाखो स्टूडेंट अपनी ग्रेजुएशन की पढाई करके कॉल सेण्टर ही ज्वाइन करते है इसलिए यहाँ पर Main power की कोई कमी नहीं है.

इसलिए इंडिया में बहुत सी International कंपनियां कॉल सेण्टर operate करवाती है क्युकी कम बजट में ही सही स्किल्स वाले लोग मिल जाते है इंडिया में Clients के हिसाब से ऐसे software और Services कम लागत में बन जाते है जो कॉल सेण्टर खोलने का काम आसान कर देते है साथ ही Government ने अपने policy को आसान बना रखा है जिस वजह से Foreign Instrument बढ़ रहा है.

इस लिए इंडिया में बहुत सारी कंपनी अपना बिज़नस बढ़ा रही है ये सब आप इस गवर्मेंट साईट पर देख सकते है BPO को क्या सर्विस और फैसिलिटी मिल रही है https://www.meity.gov.in/ 

कॉल सेंटर कैसे खोलें? (How to open call center in Hindi)

अब जानते है की कॉल सेण्टर खोलने का प्रोसेस क्या है तो सबसे पहला स्टेप आता है.  

Business Model Decide 

कॉल सेण्टर खोलने के लिए सबसे पहले अपना Business Model decide करें जिस पर आप काम करेंगे इसके पहले ये जान ले कि कॉल सेण्टर के कितने टाइप होते है.

Inbound call center

Inbound call center ये वो कॉल सेण्टर होते है जिसमे अगर आपको कोई प्रॉब्लम होती है तो आप Customer care पर कॉल करते है जैसे अगर आपने कोई प्रोडक्ट खरीदा है और आपको चलाने में कोई दिक्कत हो रही है  या फिर कुछ पूछना है या फिर आपको कोई शक है तो यहाँ पर आप Customer care का नंबर डायल करते है.

Outbound call center

Outbound call center से Customer को कॉल किया जाता है ये अपनी कम्पनी का फीड बैक लेने के लिए अपने कम्पनी के प्रोडक्ट के बारे या कोई ऑफर बताने के लिए या फिर कोई भी जानकारी देने के लिए या ऐसा भी हो सकता है की आप दोनों भी सर्विस दें.

Location 

अब बात करते है Location की, ज्यादा तर कॉल सेण्टर बड़े-बड़े शहरो में ही होते है अगर आप चाहें तो इसे अपने गावं या छोटे शहर में भी खोल सकते है Depend करता है की आप मार्किट से किस तरह के प्रोजेक्ट उठा रहे है 
अगर आप किसी नेशनल या इंटरनेशनल  कंपनी की तरफ से उनके Customers को सर्विस दे रहे है तो हो सकता है की आपको अपना सेटअप किसी बड़े शहर में लगाना पड़े Location Decide करने के बाद आपको एक बिल्डिंग या ऑफिस किराये पर लेना होगा जहाँ पर आप अपना कॉल सेण्टर खोलेंगे इसके लिए आपको रेंट अग्रीमेंट करना होगा अगर ऑफिस का फ्लोर खाली मिला है तो आपको अपने हिसाब से ऑफिस को बनवाना होगा जिस पर भी आपका खर्चा आयेगा.

Registration 

कॉल सेण्टर खोलने के लिए आपको Registration भी करवाना होगा इसके लिए आप Private limited company से Partnership या License भी ले सकते है अपनी खुद की कंपनी कैसे शुरू करे के लिए आप  इस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी कैसे खोले आर्टिकल को पढ़ सकते है.

आपको अपना Business शुरू करवाने के लिए Companies Act 2013 में register करवाना होगा और इंडिया में एक BPO (Service provider) बनने के लिए (NASSCOM) National Association of software and services companies से भी खुद को Certified करना होगा, अगर आप It service provider बनेंगे तो Department of telecommunications से भी License लेना होगा GST registration भी आपको लेना होगा अगर आपको पेपर वर्क में कोई दिक्कत हो तो किसी Lawyer या CA (Chartered accountant) से भी हेल्प ले सकते है 

Machine tools and Technology 

कॉल सेण्टर चलाने के लिए आपको बहुत सारे Machine tools and Technology की भी जरूरत होगी जैसे-

Computer and accessories
Server
Internet Connectivity
Software
Etc. 

जिन पर लाखो का खर्चा आयेगा साथ ही साथ आपको Power backup भी रखना पड़ेगा क्युकी ज्यादा तर Call center 24 hours खुले होते है इसलिए computer ख़राब होते रहते है network की दिक्कत,  power की दिक्कत आती रहती है इसलिए System को  update रखने के लिए आपको  

Technical experts
Network engineer
Electrician

इन सभी की जरूरत पड़ेगी Manpower की बात करे तो कॉल सेण्टर चलाने के लिए आपको एक बड़ी टीम की जरूरत पड़ेगी इसलिए आपको Skilled लोगो को काम पर रखना होगा जिनकी Communication अच्छी हो, Basic computer skills और Hindi, English और Origin language पर अच्छी पकड़ हो और जो दुसरो को अपनी बातो से Influence कर ले इसके अलावा भी ऑफिस manage करने के लिए Housekeeping, Security guard जैसे लोगो को हायर करना होगा 
टीम के लिए-

HR
Account manager
Admin
Communication manager
PR and Trainer

रखने होंगे जो आपके Employee को

Soft skills
Personality development
Communication improve

करने में अपने Effort लगायेंगे.

Sales and marketing team

इसके साथ Sales and marketing की (call center kaise khole) बात की जाये तो ये काम किसी Third party को दे देते है क्युकी आप भी चाहोगे की आपको कोई काम लाकर दे तो इस लिए आपको ये टीम रखनी होगी और आप कम्पनी चला पाएंगे, ये टीम field में जाकर कंपनी से बात करेगी की आज के जमाने में कॉल सेण्टर की सर्विस लेना क्यों जरूरी है इस तरह आप किसी एक या दो कम्पनी के लॉन्ग टाइम के लिए सर्विस प्रोवाइडर भी बन सकते है. ये पूरी तरह आप पर Depend करता है की आप कंपनी को आगे बढाने में कितना Contribution दे रहे है example के लिए अगर आप किसी बैंक का credit card बेंच रहे है तो आपके Employee कितने Customers लाने में कितने काबिल है इससे पता चलेगा की आपकी सर्विस कैसी है.

Company portfolio 

Company portfolio जो की आपको अच्छा Business दिलाएगा जब भी आप Professional world में कदम रखते है तो आपको उसी हिसाब से सोचना पड़ता है कंपनी शुरू करने के बाद जब आपको धीरे-धीरे प्रोजेक्ट्स मिलने लगे तो आप कम्पनी का  Company portfolio  बनवाइए की आप किस तरह की सर्विसेज देते है वो विडियो प्रोफाइल हो सकता है कोई Presentation हो सकता है जिसमे आपके कम्पनी के बारे में वर्क के बारे में 

Infrastructure
Projects taken from market
Successful delivery
Clients feedback 

शामिल होगा इससे आप ग्राहकों के फीडबैक को अच्छे से जान पाएंगे साथ ही सभी Social media पर आपका होना और एक बढ़िया सी वेबसाइट का होना भी जरूरी है.

Investment 

अब बात करते है Investment की, अपने लिए आप कोई Business partner या फिर Bank से  Loan ले सकते है जिनके साथ आप ये Business शुरू कर सकते है 

Job opportunities 

BPO sector में आपके लिए जॉब ऑप्शन है- 

Technical support executive
Tele marketing executive
Team leader
Trainer/language Expert
Data analyst
Computer and network engineer
HR executive

Sales and marketing

जैसे कई सारी Profile के लिए  Job opportunities ढूंढ सकते है अगर आपकी इंग्लिश अच्छी है तो तीन अलग-अलग लैंग्वेज जानते है तो आप आराम से कॉल सेण्टर में जॉब पा सकते है इसके अलावा बाकी पोस्ट के लिए आपको Qualification की जरूरत पड़ेगी –

Qualification
Experience
Knowledge

Salary package

यहाँ पर Salary package भी अच्छा मिलता है fresher के तौर पर 15,000 से 20,000 या उससे ज्यादा भी मिल सकती है Depend करता है की आप किस कम्पनी में जॉब कर रहे है और आपकी Qualification और Skills क्या है.

इसे भी पढ़े?

बैंक सेल्स ऑफिसर कौन होता है?

ASP कैसे बनें? | ASP का सिलेक्शन प्रोसेस क्या है?

DSP का प्रमोशन कैसे होता है?

बैंक क्लर्क कौन होता है? Who is a Bank Clerk in hindi

आज आपने क्या सीखा?

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा ये (Call center kaise khole) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए काफी यूजफुल भी होगा क्युकी इसमें हमने आपको कॉल सेंटर कैसे खोलें? के बारे में पूरी जानकारी दी है, हमारी ये (Call center kaise khole) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो लोग कॉल सेण्टर खोलना चाहते हैं उनके साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *