B’Pharma क्या है | बी फार्मा कैसे करे?

b pharma kya hindi

बी फार्मा कोर्स का रिलेशन मेडिसिन से है तो अगर आप मेडिसिन्स के फील्ड में इंटरेस्टेड है और इसमें अपना करियर बनाना चाहते है तो आप बी फार्मा कर सकते हैं बहुत से लोग बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं

लेकिन उन्हें इस कोर्स के बारे में पूरी जानकारी नही है तो आज इस आर्टिकल में हम आपको बी फार्मा कोर्स के बारे बतायेंगे कि बी फार्मा कोर्स क्या है कौन लोग इस कोर्स को कर सकते हैं और इसके लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिये और किन कॉलेजेज से आप ये कोर्स कर सकते हैं.

Table of Contents

बी फार्मा क्या है? (What is b pharma in Hindi)

बी फार्मा (b pharma kya hindi) का फुल फॉर्म Bachlor of Pharmacy होता है ये अंडरग्रेजुएट फार्मेसी कोर्स होता है इस कोर्स की ड्यूरेशन 4 साल होती है जिसमे प्रत्येक  इंस्टिट्यूट के हिसाब से करिकुलम को छ: से आठ सेमेस्टर में पूरा किया जाता है फार्मेसी एक ऐसा साइंस है जिसमे मेडिसिन से जुड़े सारे रिसर्च और टेस्ट्स किये जाते हैं

b pharma kya hai aur kaise kare

हर बार जब भी किसी बीमारी के लिए कोई दवा खोजी जाती है तो फार्मेसी द्वारा ही उस बीमारी की दवाइयों को टेस्ट किया जाता है और रिसर्च करके उसके इफेक्ट्स और साइड इफेक्ट्स का पता लगाया जाता है और फिर उसे ट्रीटमेंट के लिए उपयोग में लाया जा सके.

फार्मेसी हेल्थकेयर इंडस्ट्री का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट होता है इसके द्वारा सिर्फ दवाइयों की टेस्टिंग ही नही की जाती है बल्कि इससे मेडिसिन्स को डेवेलोप करने, मैनुफैक्चर करने और मार्केट में सप्लाई करने का काम भी किया जाता है.

बी फार्मा कोर्स करने के लिए क्राइटेरिया क्या है?

बी फार्मा कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपका 12th पास करना बहुत जरूरी  होता है इसमें पी सी बी या पी सी एम में से कोई आपका सब्जेक्ट होना चाहिये और जिस इंस्टिट्यूट या यूनिवर्सिटी से आप इस कोर्स को करने के लिए एडमिशन लेना चाहते हैं वहाँ पर एडमिशन के लिए मिनिमम मार्क्स क्राइटेरिया भी अलग-अलग हो सकता है जिसे आपको फॉलो करना होगा.

बी फार्मा में एडमिशन कैसे ले?

कुछ यूनिवर्सिटीज बी फार्मा में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट ओर्गानाइज करती हैं जिसके बाद ग्रुप डिस्कशन्स, पर्सनल इंटरव्यू और काउंसिल भी कराई जाती है

कुछ एंट्रेंस टेस्ट जैसे-बीएचयू बी फार्मा एंट्रेंस टेस्ट, एमएचटी सी ई टी महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट, ग्रेजुएट्स फार्मेसी आप्टीट्युट टेस्ट (जी पी ए टी), (वेस्ट बंगाल ज्वाइन्ट एंट्रेंस एग्जामिनेशन) डब्ल्यू बी जे इ इ एंट्रेंस टेस्ट, बीआईटीएसएटी(बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस आप्टीट्युट टेस्ट) एंट्रेंस टेस्ट आदि है.

बी फार्मा की कितनी फीस है?

ये आपके कॉलेज पर डिपेंड करता है कि वो आपसे कितनी फीस चार्ज करते हैं लेकिन अगर एक अवरेज फीस की बात करें तो इस कोर्स को कम्पलीट करने में 40 हजार से 1 लाख तक का रुपया लग सकता है.

बी फार्मा कोर्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट्स होते हैं?

बी फार्मा कोर्स के कुछ सब्जेक्ट्स है जैसे- बायोकेमिस्ट्री, ह्यूमन एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी, फार्मास्यूटिकल बायोटेक्नोलॉजी और फार्मास्यूटिकल मैथ्स एंड बायोस्टेटिक्स आदि.

बी फार्मा करने से क्या फायदा है?

फार्मास्यूटिकल टेक्नोलॉजी, फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री, क्लीनिकल फार्मेसी, आयुर्वेद, फार्मासुटिक्स, फार्मेसी प्रैक्टिस, फार्माकोग्नोसी, फार्माकोलॉजी और फार्मास्यूटिकल एनालिटिक्स एंड क्वालिटी एस्योरेन्स आदि.

बी फार्मा कोर्स कराने वाले कॉलेजेज कौन-कौन से है?

बी फार्मा (b pharma kya hai aur kaise kare) कोर्स कराने वाले इंडिया के कुछ कॉलेजेज निम्न है जैसे- यूनिवर्सिटी ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज चंडीगढ़, इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई, मनीपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज मनीपाल, जे एसएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी, द नीलगिरीस तमिलनाडु फार्मेसी कॉलेज, जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी जयपुर, इंटीग्रल यूनिवर्सिटी लखनऊ, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आइआइटी) वाराणसी, एमइटी यूनिवर्सिटी नॉएडा, बॉम्बे कॉलेज ऑफ फार्मेसी मुंबई, अमृता स्कूल ऑफ फार्मेसी कोच्ची, श्री राम चन्द्र इंस्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च चेन्नई और महाराजा सायाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बरोड़ा बरोड़ा आदि. ये कुछ कॉलेजेज है जहाँ से आप बी फार्मा का कोर्स कर सकते हैं.

बी फार्मा कोर्स करने के लिए स्टूडेंट में कौन-कौन सी स्किल्स होना चाहिये?

सिम्पली तो हर स्टूडेंट का डिस्प्लिन होना और शार्प माइंड होना जरूरी है इस कोर्स में थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिकल कोर्स भी होता है जिसमे इनोवेशन और रिसर्च का काम बहुत ज्यादा होता है तो इसीलिए ऐसे में स्टूडेंट मेडिसिन और साइंटिफिक रिसर्च में इंटरेस्ट और अंडरस्टैंडिंग होना बहुत जरूरी है और इसी के साथ डिटर्मीनेशन और कंसिस्टेंसी हर फील्ड के लिए जरूरी होता है.

बी फार्मा कोर्स करने के फायदे क्या हैं?

  1. बी फार्मा की डिग्री लेने के बाद आप स्टेट फार्मेसी काउंसिल में रजिस्टर करने के बाद आप अपनी फार्मेसी शॉप खोल सकते हैं यानि की आप अपने पसंद का बिज़नस मतलब कि मेडिसिन शॉप खोल सकते हैं.
  2. बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप मास्टर्स डिग्री ले सकते हैं जिससे आप किसी एक सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन पा लेंगे और इससे आपको मिलने वाली जॉब ओप्पोर्चुंनिटी और करियर ऑप्शन्स बहुत ज्यादा होंगे.
  3. इसके बाद आप टीचिंग फील्ड में जाकर एक लेक्चरर भी बन सकते हैं बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप इनमे से कोई एक कोर्स कर सकते हैं मास्टर ऑफ फार्मेसी(एम फार्मा), कोर्स इन क्लिनिक रिसर्च, ड्रग स्टोर मैनेजमेंट कोर्स, एम.एससी फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री, मैनेजमेंट प्रोग्राम इन फार्मेसी, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन क्लीनिकल ट्रायल मैनेजमेंट आदि.

बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप कौन-कौन से एरिया में जॉब पा सकते हैं?

ये कोर्स करने के बाद आप हॉस्पिटल फार्मेसी, टेक्निकल फार्मेसी, क्लीनिकल फार्मेसी, मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर, रिसर्च एजेंसी, एजुकेशनल्स इंस्टिट्यूट, फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन, सेल्स एंड मार्केटिंग डिपार्टमेंट और हेल्थ सेंटर की एरिया में आप जॉब पा सकते है.

बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप कौन सी जॉब्स पा सकते हैं?

बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप एनालिटिकल केमिस्ट, ड्रग ठेरिपेस्ट, हेल्थ इंस्पेक्टर, कस्टम ऑफिसर्स, टीचर, डाटा मैनेजर, रेगुलेटरी मैनेजर, केमिकल टेकनीशियन, हॉस्पिटल ड्रग कोर्डिनेटर, फार्मास्यूटिकल साइंटिस्ट और क्वालिटी कंट्रोल आदि की जॉब ऑप्शन्स पा सकते हैं.

बी फार्मेसी डिग्री होल्डर्स को रिक्रूट करने वाले कुछ इंडियन रेक्रुइटर्स है

बी फार्मा डिग्री होल्डर्स को रिक्रूट करने वाले कुछ इंडियन रेक्रुइटर्स जैसे-सिप्ला, पिरामल, लूपिन, सन फार्मास्यूटिकल्स और बिन्दुमाधव फार्मा, डॉ रेड्डी लेबोरेटरीस आदि हैं. और बी फार्मेसी डिग्री होल्डर्स को रिक्रूट करने वाले कुछ इंटरनेशनल रेक्रुइटर्स भी होते हैं

इंडिया की फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री बहुत ही तेजी से ग्रो कर रही है इसीलिए इसके हिसाब से बहुत जल्दी ही इस कंपनी में ट्रेंड प्रोफेशनल की मांग बढ़ जाएगी क्युकी गवर्नमेंट डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्यूटिकल ने इंडिया को इस फील्ड में मेजर हब बनाने के जो इनेसिएटिव लिया है फार्मा विजन 2020, उसके बाद ये इंडस्ट्री वन ऑफ द मूवमेंट एम्प्लोय इंडस्ट्री के रूप में सामने आयेगी.

बी फार्मा कोर्स करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

बी फार्मा डिग्री होल्डर्स की सैलरी उसके जॉब ऑप्शन्स और फील्ड पर डिपेंड करेगी, लेकिन फिर भी बी फार्मा कोर्स करने के बाद आप एक फ्रेशर के तौर पर मंथली सैलरी 10 से 15 हजार रूपये आसानी से पा सकते हैं और आपके इंस्टिट्यूट और वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ ही आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी.

CTI कोर्स क्या होता है? | CTI कोर्स के लिए अप्लाई कैसे करें?

ITI Course क्या है? | आईटीआई कोर्स कैसे करे

बी.टेक आईटी कोर्स क्या है | B Tech IT Full Form

DIG कैसे बने DIG की तैयारी कैसे करें | DIG Full Form in Hindi

आज आपने क्या सीखा?

हमे आशा है कि हमारा ये (b pharma kya hindi) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए काफी यूजफुल भी होगा इसमें हमने आपको बी फार्मा से रिलेटेड सारी जानकारी दी है जैसे- बी फार्मा क्या है ये कोर्स आप कहाँ से कर सकते हैं सब्जेक्ट्स क्या है और ये कोर्स करने के बाद आप कितनी सैलरी पा सकते हैं आदि,

आपको हमारी ये (b pharma kya hindi) जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो इस कोर्स को करके अपने फ्यूचर को ब्राइट बनाना चाहते है  उसके साथ भी इस जानकारी को जरुर शेयर कीजियेगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.