बायोलॉजी स्टूडेंट के लिए 12th बाद बेस्ट करियर ऑप्शन्स क्या हैं?

12th science biology ke baad kya kare hindi

साइंस स्टूडेंट के लिए 12th के बाद बहुत से करियर आप्शन होते हैं जैसे- एमबीबीएस, इंजीनियरिंग, मेनस्ट्रीम जैसे और भी बहुत सारे ऑप्शन्स हैं अगर वो चाहे तो 12th के बाद भी साइंस को ही चुन सकते हैं या फिर नॉन-साइंस को भी चुन सकते हैं 12th क्लियर करने वाले स्टूडेंट को 12th के बाद बहुत से कोर्सेज मिलते हैं जिसमे से उन्हें कोई एक कोर्स चुनना होता है

साइंस में दो तरह की फ़ील्ड्स होती होती हैं पहली मेडिकल और दूसरी नॉन-मेडिकल फील्ड, तो क्या आप भी कन्फ्यूज हैं कि आपको 12th के बाद क्या करना चाहिए तो आज इस आर्टिकल में हम आपको बतायेंगे कि अगर आपने भी बायोलॉजी साइंस स्ट्रीम से 12th पास किया है तो 12th के बाद आपके पास कौन-कौन से करियर ऑप्शन्स होंगे.

Table of Contents

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट के पास कौन-कौन से करियर ऑप्शन्स होंगे?

12th science biology ke baad kya kare

जिन स्टूडेंट्स ने फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी से 12th पास किया है उनके पास 12th क्लियर करने के बाद बहुत से करियर ऑप्शन्स होंगे

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट एमबीबीएस कैसे करे 

अगर आपने 12th क्लास साइंस स्ट्रीम से पास किया है जिसमे आपके बायोलॉजी सब्जेक्ट लिया था तो एमबीबीएस में ऐसे स्टूडेंट्स की सबसे ज्यादा डिमांड होती है जो स्टूडेंट्स डॉक्टर बनना चाहते हैं वो ये कोर्स कर सकते हैं इसके एंट्रेंस एग्जाम में हर साल लगभग लाखों स्टूडेंट्स बैठते हैं जिसमे से अच्छा परफॉर्म करने वाले स्टूडेंट्स का चयन किया जाता है एमबीबीएस में आप 12th के मार्क्स और एंट्रेंस एक्साम के मार्क्स के बेस पर एडमिशन मिलता है

अगर आप इसके अच्छे कॉलेज में जाना चाहते हैं तो आपको इन एग्जाम को अच्छे मार्क्स से पास करना होगा, अगर आप और ज्यादा नॉलेज या पोस्ट पाना चाहते हैं तो आप पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स भी कर सकते हैं डॉक्टर बनना का काम सिर्फ पैसा कमाना नही होता है बल्कि उसका काम समाज की सेवा करने के लिए तैयार रहना होता है इन कोर्सेज को करने में साढ़े 5 साल लगते हैं.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट वेटरनरी साइंस कैसे करे 

इसे पशु चिकित्सा विज्ञान भी कहा जाता है इस कोर्स को करके आप जानवरों के डॉक्टर बन सकते हैं आज के समय में जैसे-जैसे पेट एनिमल्स की संख्या और एनिमल्स के प्रति लोगों की संवेदनशीलता बढ़ती जा रही है ऐसे में ये एक पोपुलर कोर्स बनता जा रहा है इसमें कम लोग अप्लाई करते हैं इसीलिए इस कोर्स में ग्रेजुएट स्टूडेंट्स को सरकारी नौकरी पाना आसान हो जाता है शहरो में ज्यादातर लोग जानवरों को पालते है जिससे आप ये कोर्स करने के बाद अपना खुद का क्लिनिक शुरू कर सकते हैं.

ज्यादा जानकारी के लिए आप  इसे पड़ सकते है

वेटरनरी डॉक्टर कैसे बनें?

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीएएमएस कैसे करे 

इसका फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी होता है 12th के बाद आप इस कोर्स को करके एक आयुर्वेद डॉक्टर बन सकते हैं सभी लोग जानते हैं कि आयुर्वेद और इसकी दवाइयों के कुछ भी साइड इफेक्ट्स नही होते हैं आज के समय में इंडिया में ज्यादातर लोग इसका यूज करना पसंद करते हैं सिर्फ भारत में ही नही बल्कि विदेशों में भी इसका अच्छा नाम है आप ये कोर्स करके विदेशों में भी अपना क्लिनिक खोल सकते हैं इस कोर्स की ड्यूरेशन भी साढ़े 5 साल होती है.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीडीएस कैसे करे 

इसका पूरा नाम बैचलर ऑफ़ डेंटल सर्जरी है इस कोर्स को कम्पलीट करने के बाद आप एक डेंटिस्ट बन सकते हैं ये भी एक तरह के डॉक्टर होते हैं इस फील्ड में अपना बेस्ट करियर बनाने के लिए आपको पोस्ट ग्रेजुएट का कोर्स करना सही रहेगा इस कोर्स की ड्यूरेशन 5 साल की होती है एमबीबीएस डॉक्टर की तुलना में इन्हें आराम करने का समय ज्यादा मिल जाता है लेकिन इसमें आपका वर्क एक्सपीरियंस और स्किल्स को बढ़ाकर एक फेमस डेंटिस्ट बन सकते हैं जिससे आपके पास ज्यादा ओपोइंटमेंट्स आयेंगे.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बी.फार्मेसी कैसे करे 

अगर आप साइंस के स्टूडेंट हैं तो 12th के बाद आप बी. फार्मेसी का कोर्सेज कर सकते हैं लेकिन इसके बाद एम.फार्मेसी का कोर्स भी कर लेते हैं तो फार्मेसी कम्पनी में या फार्मेसी कॉलेज में एक लेक्चरर पोस्ट पर जॉब पा सकते हैं अगर आप बी.फार्मेसी कोर्स करना चाहते हैं तो इसकी ड्यूरेशन 4 साल और अगर आप एम.फार्मेसी कोर्स करना चाहते है तो इस कोर्स की ड्यूरेशन 2 साल होती है दोनों को मिलाकर इसकी ड्यूरेशन 6 साल की होती है इन कोर्सेज को करने के बाद आप गवर्नमेंट जॉब के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट फॉर्म डी कैसे करे 

ये कोर्स बी.फार्मेसी और एम.फार्मेसी से अलग होता है ये कोर्स बी.फार्मेसी, एम.फार्मेसी और एमबीबीएस तीनों को मिलाकर बना हुआ कोर्स हैं फॉर्म डी कोर्स की ड्यूरेशन 6 साल होती है क्युकी ये कोर्स काफी कठिन होता है इसीलिए इस कोर्स में अप्लाई करने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बहुत कम होती है अगर आप इस कोर्स को कर लेते है तो आप इसमें जल्दी जॉब पा सकते हैं.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीएससी कैसे करे 

इसका फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ साइंस है आप बीएससी कोर्स करने के बाद एमएससी की डिग्री लेकर अलग-अलग फील्ड में जॉब पा सकते हैं इस फील्ड में भी आप बहुत से जॉब ऑप्शन्स जैसे- टीचर या लेक्चरर, रिसर्च फील्ड की पोस्ट पा सकते हैं इसके बाद आप गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं इस कोर्स को करने के बाद आप अपना खुद का क्लिनिक खोल सकते हैं

बीएससी कोर्स की ड्यूरेशन 3 साल और एमएससी कोर्स की ड्यूरेशन 2 साल होती है आपको इन दोनों कोर्सेज को 5 साल में कम्पलीट कर सकते हैं रिसर्च की फील्ड जॉब के लिए बहुत ही कम लोग अप्लाई करते हैं इसीलिए आप इस फील्ड में आसानी से जॉब पा सकते हैं.

बायो स्टूडेंट को बीएससी कोर्स में कौन-कौन से ऑप्शन्स है 

बीएससी इन बायोकेमिस्ट्री,

बीएससी इन बायोलॉजी,

बीएससी इन फिजिक्स,

बीएससी इन केमिस्ट्री,

बीएससी इन एनवायर्नमेंटल साइंस,

बीएससी इन बायोटेक्नोलॉजी,

बीएससी इन नर्सिंग,

बीएससी इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी,

बीएससी इन फिजियोथेरेपी,

बीएससी इन रेडियोलोजी,

बीएससी इन बायोइन्फार्मेटिक्स,

बीएससी इन एंथ्रोपोलॉजी,

बीएससी इन माइक्रोबायोलॉजी,

बीएससी इन जूलॉजी, 

बीएससी इन फॉरेंसिक साइंस,

बीएससी इन एग्रीकल्चर,

बीएससी इन पैथोलॉजी,

बीएससी इन स्पीच थेरेपी,

बीएफएससी इन फिशरीज साइंस,

बीएससी इन होटीकल्चर,

बीएससी इन जेनेटिक्स,

बीएससी इन हेल्थ साइंस नुट्रीशन्स,

बीएससी इन स्पोर्ट्स साइंस,

बीएससी इन ऑडियोलॉजी और बीएससी इन बॉटनी आदि.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट डिप्लोमा कोर्सेज कैसे करे 

कुछ इंस्टिट्यूट ऐसे होते हैं जो हॉस्पिटल मैनेजमेंट और लैब मैनेजमेंट जैसे कई डिप्लोमा कोर्सेज कराते हैं अगर आप ऐसे डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो आपको अलग-अलग इंस्टिट्यूट की साईट पर जाकर कोर्स डिटेल्स चेक्क करनी होगी.

इसमें बहुत से कोर्सेज हैं जो आप 12th के बाद कर सकते हैं जैसे– डिप्लोमा इन नर्सिंग, डिप्लोमा इन रिटेल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन एजुकेशन टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा इन डेरी टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा इन योग टेक्नोलॉजी, एनम और जीएनएम आदि.

ज्यादा जानकारी के लिए आप इसे पड़े

डिप्लोमा क्या है 

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीएचएमएस कैसे करे 

इसका पूरा नाम बैचलर ऑफ़ होमियोपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी है इस कोर्स की ड्यूरेशन साढ़े 4 साल की होती है इस कोर्स को कम्पलीट करने के बाद स्टूडेंट को 1 साल की इंटर्नशिप करनी होती है इस तरह इस कोर्स में लगने वाला समय साढ़े 5 साल होता है बीएचएमएस होमियोपैथिक चिकित्सा प्रणाली के सिद्धांतों पर केंद्रित है

आज के समय में एल्योपैथिक के अलावा आयुर्वेदिक और होमियोपैथिक दवाइयां भी ज्यादा यूज की जा रही है एमबीबीएस, बीडीएस और बीएएमएस कोर्सेज में एडमिशन न पाने वाले स्टूडेंट बीएचएमएस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं इस कोर्स के बाद पास ग्रेजुएट्स को डॉक्टर का टैग मिल जाता है.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बैचलर ऑफ़ फिजियोथेरेपी कैसे करे 

इस कोर्स में आप बहुत से जॉब ऑप्शन्स पा सकते हैं इस  कोर्स की ड्यूरेशन 4 साल होती है और कोर्स कम्पलीट करने के बाद स्टूडेंट को 6 महीने का इंटर्नशिप करना होता है इस कोर्स को कम्पलीट करने के बाद ग्रेजुएट्स, जिम, क्लिनिक, स्कूल और कॉलेज जॉब्स पा सकते हैं.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीयूएमएस कैसे करे 

इसका फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी है ये साढ़े 4 साल का प्रोफेशनल है जिसे पूरा करने के बाद ग्रेजुएट्स को 1 साल की अनपेड इंटर्नशिप भी करनी होती है इसको पूरा कम्पलीट करने में 5 साल लगते हैं इस कोर्स को पूरा कम्पलीट करने के बाद स्टूडेंट्स के नाम के साथ-साथ डॉक्टर का टैग लग जाता है.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बीएएसएलपी कैसे करे 

इसका पूरा नाम बैचलर ऑफ़ ऑडियोलॉजी स्पीच लैंग्वेज पैथोलॉजी है ये कोर्स ऑडियोलॉजी, हियरिंग डिसआर्डर, ऑडियो ट्री सिस्टम्स, स्पीच लैंग्वेज थेरेपी, हियरिंग इम्प्लान्ट्स पर केंद्रित होता है इस कोर्स की ड्यूरेशन 4 साल की होती है कोर्स को कम्पलीट करने के बाद स्टूडेंट को 1 साल का इंटर्नशिप करना पड़ता है इस तरह इस कोर्स में कम्पलीट करने में 5 साल लगते हैं इस कोर्स को पूरा कर लेने के बाद ग्रेजुएट्स के लिए जॉब करने के कई सेक्टर्स हैं

जैसे- मार्केटिंग ऑफ़ हियरिंग इम्प्लांट, रिहैब्लीटेशन क्लिनिक और हॉस्पिटल्स, स्पीच स्कूल्स और एजुकेशनल इंस्टिट्यूटस आदि ये सभी श्रवण विकार से पीड़ित बच्चों के लिए हैं और हियरिंग और मेनूफेक्टुरिंग इंडस्ट्रीज आदि है.

12th पास करने के बाद बायो के स्टूडेंट बैचलर ऑफ़ ऑक्यूपेशनल थेरेपी कैसे करे 

इस कोर्स को करने में साढ़े 4 साल लगते है ये कोर्स ग्रेजुएशन लेवल का मेडिकल कोर्स है ये कोर्स व्यासायिक चिकित्सा पर केंद्रित है व्यासायिक चिकित्सा मतलब कि शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और न्यूरोलॉजिकल समस्याओं वाले पीड़ितों से रिलेटेड है इनका उद्देश्य अलग-अलग तरह से रोगियों को इलाज करके उनकी स्थिति को सुधारना होता है.

ये इतने कोर्स हमने आपको बताएं हैं इसके अलावा कई कोर्स आपको मिलेंगे जो आप साइंस स्ट्रीम से 12th कम्पलीट करने के बाद कर सकते हैं

जेनेटिक साइंटिस्ट क्या है और कैसे बने

एमसीए कोर्स (MCA Course) क्या है | MCA की फीस कितनी है?

बीएससी नर्सिंग कोर्स क्या है? | नर्सिंग कोर्स क्या है

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (12th science biology ke baad kya kare hindi) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और बायोलॉजी स्टूडेंट्स के लिए 12th के बाद करियर आप्शन चुनने में काफी मदद भी करेगा क्युकी इसमें हमने आपको बहुत से कोर्सेज बताएं हैं जिन्हें करके आप अपना करियर बना सकते हैं और अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं

आपको हमारी ये (12th science biology ke baad kya kare hindi) जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और जो लोग 12th के बाद बायोलॉजी सब्जेक्ट से रिलेटेड कोर्सेज में अपना करियर बनाना चाहते हैं उनके साथ भी जरुर शेयर कीजिएगा.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.